मंदिर-मस्जिद विवाद के बीच एक और याचिका दर्ज, 100 साल से ज्यादा पुरानी मस्जिदों के सर्वे की मांग

देश में इस समय मंदिर मस्जिद विवाद Mandir Masjid Dispute गहरा गया है. मंदिर मस्जिद विवाद के बीच एक के बाद एक याचिका दायर हो रही है. अब सुप्रीम कोर्ट Supreme Court में एक याचिका दायर की गई है.

Share This News
supreme court

supreme court

देश में इस समय मंदिर मस्जिद विवाद Mandir Masjid Dispute गहरा गया है. मंदिर मस्जिद विवाद के बीच एक के बाद एक याचिका दायर हो रही है. अब सुप्रीम कोर्ट Supreme Court में एक याचिका दायर की गई है. जिसमें देश की 100 साल से पुरानी मस्जिदों के सर्वे कराने की मांग की गई है.

ASI से कराया जाए सर्वे

सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण या किसी अन्य संस्था को आदेश दे कि वो इन मस्जिदों का सर्वे करे. इसके अलावा 100 साल से अधिक पुरानी मस्जिदों में तालाबों और कुओं से वजू को स्थानांतरित करने के लिए भी निर्देश जारी करे. इन सर्वेक्षणों को गोपनीय रखने की भी मांग की गई है, जिससे अगर कोई अवशेष मिलता है तो सांप्रदायिक घृणा और धार्मिक भावनाओं को आहत करने से बचा जा सके.

मुस्लिम आक्रमणकारियों ने तोड़े थे धार्मिक स्थल

गौरतलब है कि मध्यकालीन युग में मुस्लिम आक्रमणकारियों ने कई हिंदू, जैन, सिख और बौद्ध मंदिरों को अपवित्र कर दिया था. साथ ही इन्हें तोड़कर मस्जिदें बना दी गईं थीं, इसलिए इन प्राचीन पूजा स्थलों में बहुत से देवी-देवताओं के अवशेष मिलेंगे, जो इस्लाम के अलावा अन्य धर्मों के होंगे. सद्भभावना के लिए इन मस्जिदों में मौजूद अवशेषों का सम्मान किया जाए. जांच के बाद यह धार्मिक स्थल जिस भी धर्म के मिलते हैं. वह उसी धर्म को सौंपा जाए जिससे वह अपनी प्रार्थना, पूजा और दुआ कर सके.

शुक्रवार को यह याचिका दिल्ली-एनसीआर के अधिवक्ता शुभम अवस्थी और सप्तर्षि मिश्रा ने दायर की थी. दावा किया है कि वाराणसी की ज्ञानवापी परिसर में एक कथित शिवलिंग पाया गया था. जहां मुसलमान वजू करते हैं, जो प्रथा कई दशकों से जारी है. इसके अलावा जब आप 100 साल पुरानी मस्जिदों का सर्वे कराएंगे ऐसे ही कई और धार्मिक अवशेष मिलेंगे.

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.