गुरु पूर्णिमा के मौके पर पीएम मोदी ने देशवासियों को दी बधाई, कहां एक दूसरे की ताकत बनों

नई दिल्ली: आज पूरे भारत में गुरु पूर्णिमा (Guru Purnima) मनाई जा रही है। इस पावन पर्व पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने देशवासियों को बधाई दी है। आज पीएम मोदी ने आषाढ़ पूर्णिमा-धम्मचक्र दिवस कार्यक्रम में संबोधित भी किया है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘आप सभी को धम्मचक्र प्रवर्तन दिवस और आषाढ़ पूर्णिमा की बहुत-बहुत शुभकामनाएं. आज हम गुरु-पूर्णिमा भी मनाते हैं और आज के ही दिन भगवान बुद्ध ने बुद्धत्व की प्राप्ति के बाद अपना पहला ज्ञान संसार को दिया था।’

पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने बताया कि, ‘आज कोरोना (COVID-19) महामारी के रूप में मानवता के सामने वैसा ही संकट है जब भगवान बुद्ध हमारे लिए और भी प्रासंगिक हो जाते हैं। बुद्ध के मार्ग पर चलकर ही बड़ी से बड़ी चुनौती का सामना हम कैसे कर सकते हैं। भारत ने ये करके दिखाया है। बुद्ध के सम्यक विचार को लेकर आज दुनिया के देश भी एक दूसरे का हाथ थाम रहे हैं, एक दूसरे की ताकत बन रहे हैं।’

PM मोदी ने भगवान बुद्ध के पूरे जीवन का ज्ञान बताया

सूत्रों के मुताबिक देश के पीएम नरेंद्र मोदी ने ‘सारनाथ में भगवान बुद्ध के पूरे जीवन का, ज्ञान बताया। साथ ही उन्होंने दुःख के बारे में बताया, दुःख के कारण के बारे में बताया, फिर पीएम मोदी जी ने ये आश्वासन दिया कि दुःखों से जीता जा सकता है और इस जीत का रास्ता भी बताया।’

मालूम हो कि गुरु आषाढ़ मास की पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा कहा जाता है। इस दिन लाखों श्रद्धालु गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा करते हैं। बंगाली साधु सिर मुंडाकर परिक्रमा करते हैं। जिसे ब्रज में ‘मुड़िया पूनों’ के नाम से जाना जाता है। दरअसल इस दिन गुरु की पूजा की जाती है। यह त्यौहार पूरे भारत में बड़ी श्रद्धा के साथ मनाया जाता है। वैसे तो ‘व्यास’ नाम के कई विद्वान हुए हैं, लेकिन इस दिन चारों वेदों के प्रथम व्याख्याता ऋषि व्यास की पूजा की जाती है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.