Advertisement

Nuclear Bomb भी इन देशों का कुछ नहीं बिगाड़ सकता ! जानें लिस्ट में शामिल हैं कौन-कौन ?

Share
Advertisement

कई दिनों से परमाणू हमला बड़ा ही सुर्खियों में है। कई देश इसको लेकर बहुत ही अलग अंदाज में दिखते हैं जैसे हमारा पड़ोसी मुल्क कई बार बिना मतलब के भी बखेड़ा खड़ा करता है और तबाही का झूठी हनक दिखाता है। इसी के साथ अगर रूस की  बात करें तो रूस भी कई बार परमाणू शक्ति की दुहारी देकर दुनिया को अपनी ताकत का एहसास कराता है। आज हम आपको बताएंगे दुनिया की ऐसी जगह जहां आप बिल्कुल सुरक्षित रह सकते हैँ।

Advertisement

याद करिए साल1961 जब एक संधि यानी के अंतर्गत विश्व के 12 देशों ने अंटार्कटिका को वैज्ञानिक रिसर्च (scientific preserve) की जगह मानी थी। इस संधि की वजह से यहां किसी भी तरह की सैन्य गतिविधि नहीं हो सकती है। यानी युद्ध के वक्त कोई भी देश इस जगह हमला करने में असमर्थ होगा।

इस पैक्ट पर अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, बेल्जियम, चिली, फ्रांस, जापान, न्यूजीलैंड, नॉर्वे, साउथ अफ्रीका, सोवियत संघ, यूनाइटेड किंगडम, यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका, चीन, ब्राजील, जर्मनी, उत्तर कोरिया और पोलैंड ने साइन कर रखा है।

अमेरिका का कोलोराडो भी एटम बम के प्रभाव से बचने के लिए सबसे सुरक्षित देशों में से एक माना जाता है। यहां Cheyenne पहाड़ पर एक विशालकाय बंकर बना हुआ है। इस बंकर में 25 टन का ब्लास्ट डोर लगाया है। मौजूदा समय में यहां नॉर्थ अमेरिकन एरोस्पेस डिफेंस कमांड और यूनाइटे स्टेट्स नॉर्दर्न कमांड का हेडक्वॉर्टर बना हुआ है।

जानिए कौन से देश हैं सबसे सुरक्षित

परमाणु हमले के प्रभाव से बचने के लिए आइसलैंड (Iceland) बहुत ही बेहतर जगह है। इस जगह की खास बात ये है कि यहां जनसंख्या कम है और सरकार भी न्यूट्रल है। यह देश अंतरराष्ट्रीय राजनीतिक मुद्दों से एकदम अलग ही रहता है। ऐसे में इस पर परमाणु हमले की आशंका न के बराबर बनती है।

 पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया की राजधानी पर्थ (Perth, Western Australia) भी परमाणु असर से बचने के लिए सबसे सुरक्षित जगहों में से एक है। यहां की आबादी 20 लाख के आसपास है। यहां कई लोग रुक सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *