केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के परिवहन व्यवस्था को दी ऐतिहासिक मजबूती, पहली बार बसों की संख्या हुई 6900

केजरीवाल सरकार

नई दिल्ली: केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के परिवहन व्यवस्था को ऐतिहासिक मजबूती देते हुए बेड़े में 100 लो फ्लोर एसी सीएनजी बसों और शामिल कर लिया है। राजघाट बस डिपो पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा इन बसों को हरी झंडी दिखाने के साथ ही दिल्ली में पहली बार बसों की संख्या बढ़कर 6900 हो गई है।

यह सभी बसें अधिकतर ग्रामीण एरिया के रूटों पर चलेंगी- अरविंद केजरीवाल

इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के सार्वजनिक परिवहन के बेड़े में आज से 100 लो-फ़्लोर एसी सीएनजी बसें भी जुड़ गई हैं। यह बसें बाहरी दिल्ली के घुम्मनहेड़ा डिपो से दिल्ली के ग्रामीण क्षेत्र में चलेंगी। साथ ही, आने वाले दिनों में कई सीएनजी और इलेक्ट्रिक बसें भी आने वाली हैं। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इससे पहले अधिकतर बसें कॉमनबेल्थ गेम्स के दौरान ली गई थीं और तब दिल्ली के बस बेड़े में 6 हजार बसें थी। हम दिल्ली में बस ट्रांसपोर्ट को बहुत अच्छा करने के साथ ही लोगों को अच्छी फ्रीक्वेंसी के साथ बसें उपलब्ध कराने के लिए दृढ़ संकल्प हैं।

आने वाले दिनों में कई सीएनजी और इलेक्ट्रिक बसें भी आने वाली हैं- केजरीवाल

मुख्यमंत्री ने आज दिल्ली परिवहन विभाग के क्लस्टर स्कीम के तहत आज 100 लो-फ़्लोर एसी सीएनजी बसों को दिल्ली की जनता को समर्पित किया। राजघाट बस डिपो पर आयोजित उद्घाटन समारोह के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने फीटा काट कर इन बसों को निर्धारित रूटों पर चलने के लिए हरी झंडी दिखाई।

इस दौरान CM केजरीवाल ने परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत के साथ इन एसी सीएनजी लो फ्लोर बसों में यात्रियों के लिए उपलब्ध कराई गई आधुनिक सुविधाओं का भी जायजा लिया। यह बसें दिल्ली के 9 रूटों पर चलेंगी। दिल्ली परिवहन विभाग के बेड़े में 100 लो-फ़्लोर एसी सीएनजी और बसें जुड़ने के बाद दिल्ली के लोगों का आवागमन और आसान हो गया है। इसके साथ ही, दिल्ली सरकार कुछ और सीएनजी और इलेक्ट्रिक बसें आने वाले दिनों में सड़क पर उतारने जा रही है। जिसके बाद दिल्ली की परिवहन व्यवस्था और मजबूत हो जाएगी।

Share Via

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *