Advertisement

सीलमैटिक इंडिया लिमिटेड ने BSE SME बोर्ड पर IPO की घोषणा की

Credits: Google

Share
Advertisement

सीलमैटिक इंडिया लिमिटेड (SIL) आगामी 16 फरवरी 2023 से अपना आरंभिक सार्वजनिक प्रस्ताव (IPO) शुरू करेगी और यह 21 फरवरी 2023 को बंद होगा। BSE SME  में जमा की गई विवरणिका के मुताबिक, 24,99,600 इक्विटी शेयर पेश किए गए हैं, जो कि अंकित मूल्य 10 रुपये प्रति इक्विटी शेयर के हिसाब से लोअर बैंड (एलबी) में 220 रुपये से लेकर अपर बैंड (यूबी) में 225 रुपये तक होंगे।

Advertisement

इसमें बताया गया है कि एंकर सहित योग्य संस्थागत खरीदारों (क्यूआईबी) को आनुपातिक आधार पर नेट इश्यू का 40% से अधिक आवंटित नहीं किया जाएगा। जबकि गैर-संस्थागत निवेशकों के लिए आनुपातिक आधार पर नेट इश्यू का 18% से कम आवंटन के लिए उपलब्ध नहीं होगा। जबकि खुदरा व्यक्तिगत निवेशकों को नेट इश्यू का 42% से कम आवंटन के लिए उपलब्ध नहीं होगा।

SIL रिफाइनरी, तेल और गैस, पेट्रोकेमिकल, रसायन, उर्वरक, दवा, बिजली, मैरीन, लुगदी और कागज, खाद्य और पेय पदार्थ, एयरोस्पेस और कई अन्य औद्योगिक इस्तेमाल के लिए सभी प्रकार के रोटरी उपकरणों के लिए मैकेनिकल सील का एक प्रमुख डिजाइनर और निर्माता है।

फॉर्च्यून बिजनेस इनसाइट्स की रिपोर्ट के मुताबिक, वर्ष 2021 में औद्योगिक मैकेनिकल सील का वैश्विक बाजार करीब 372 अरब रुपये (4.5 बिलियन अमरीकी डॉलर) आंका गया है। वर्ष 2029 तक 5.7% चक्रवृद्धि सालाना विकास दर (सीएजीआर) की उम्मीद के साथ इस बाजार के करीब 562 अरब रुपये (6.8 बिलियन अमरीकी डॉलर) तक बढ़ने का अनुमान है।

सीलमैटिक केएसबी (KSB), सुल्जर (Sulzer), केईपीएल (KEPL), एंड्रिट्ज (, Andritz), केबीएल (KBL), रह्रपंपेन (RuhrPumpen), विलो (Wilo), एसपीएक्स (SPX), सीपेक्स (Seepex), डचिंग (Düchting), आईटीटी यूएसए (, ITT USA), भेल (BHEL), सर्कॉर (Circor), आईडेक्स (Idex), एग्गर (Egger), पीएमएसएल (PMSL), एमएसएल (MSL), जाइलेम (Xylem), मेट्सो (Metso) और कई अन्य मशहूर ओरिजनल इक्विपमेंट मैन्यूफैक्चरर्स (OEM) के लिए एक ओरिजनल इक्विपमेंट (OE) आपूर्तिकर्ता है।

यह API Q1 Spec, ATEX – 2014/34/EU, DSIR, ISO 9000, 14000, 45000 और PED 97/23/EC QA-System, FDA, GMP, RoHS, REACH प्रमाणित कंपनी है। इसके अतिरिक्त, यह इकलौती सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम (MSME) मैकेनिकल सील कंपनी है, जिसे विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा अनुमोदित किया गया है।

सीलमैटिक इंडिया लिमिटेड के प्रबंध निदेशक उमर बलवा कहते हैं, “देश भर में करीब 15,000 उच्च गुणवत्ता वाले सूक्ष्म एवं लघु उद्योग (SME) मौजूद हैं, जो हर संभव क्षेत्र में उच्च विनिर्माण में संलग्न हैं। आने वाले वर्षों में हमारे देश में औद्योगिक क्रांति होने जा रही है, जिससे भारत भी जर्मनी, जापान और दक्षिण कोरिया जैसा पावर हाउस बन जाएगा। BSE SMEप्लेटफॉर्म पर तकरीबन 394 कंपनियां सूचीबद्ध हैं, जिन्होंने बाजार से 4,263 करोड़ रुपये उठाए हैं और 7 अक्टूबर 2022 तक 394 कंपनियों का कुल बाजार पूंजीकरण करीब 60,000 करोड़ रुपये का है। यह आंकड़े सारी कहानी बयां करते हैं!”

रिपोर्टर-कंचन अरोड़ा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें