महाराष्ट्र : एक बार कहने के बाद मैं किसी की नहीं सुनता- एकनाथ शिंदे

महाराष्ट्र : महाराष्ट्र में सियासी उठापटक और मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद सोमवार को सीएम एकनाथ शिंदे अपने गृहनगर ठाणे पहुंचे। सोमवार रात ठाणे में एक जनसभा को संबोधित करते हुए शिंदे ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उन्हें राज्य के विकास के लिए पूर्ण समर्थन का आश्वासन दिया है।

उन्हाेंने कहा, मैनें जो जोखिम उठाया उसे लोगों ने सराहा है। मैं पूरे राज्य का दौरा करने जा रहा हूं और हर निर्वाचन क्षेत्र में  परियोजनाओं का आंवटन भी किया जाएगा। उन्होंने कहा, मैं अतिशयोक्ति नहीं करता। काम करने के बाद बोलता हूं। आगे कहा कि राज्य में बदलाव होकर रहेगा। उन्होंने कहा, अगर मैं एक बार कोई वादा करता हूं, तो मैं खुद की भी नहीं सुनता, जब तक कि वह पूरा न हो जाए।

मैं हिंदुत्व के लिए काम कर रहा
शिंदे ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, केंद्र की ओर से महाराष्ट्र को पूर्ण सहयोग मिलेगा। मैं हिंदुत्व के लिए काम कर रहा हूं। शिवसेना से बगावत के सवाल पर शिंदे ने कहा, हमने विद्रोह नहीं किया था। बल्कि, अन्याय के खिलाफ खड़े हुए थे। बालासाहेब ठाकरे ने हमें अन्याय के खिलाफ उठने के लिए कहा था, यह उनकी शिक्षा थी। शिंदे ने कहा कि उनका कद कितना भी बड़ा हो जाए, उनमें शिवसैनिक हमेशा बना रहेगा।

मेरे अंदर हमेशा रहेगा शिवसैनिक
सीएम एकनाथ शिंदे ने कहा, हम 15 दिनों के लिए बाहर थे। जितना आप सब मुझसे मिलना चाहते थे, मैं भी शिवसैनिकों से मिलना चाहता था। उन्होंने कहा, मैं आप सब में से ही एक हूं। मेरा कद जिनता बड़ा हो जाए, हमेशा एक शिवसैनिक मुझमे रहेगा। उन्होंने कहा, हमें अपने मिशन को सफल बनाना है और हिंदुत्व का सम्मान करना है, जिसका अर्थ है हर धर्म का सम्मान करना।

नागपुर में फडणवीस का हुआ जोरदार स्वागत 
डिप्टी सीएम बनने के बाद भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस पहली बार नागपुर पहुंचे। यहां उनका जोरदार स्वागत किया गया। लोगों को संबोधित करते हुए फडणवीस ने कहा, नागपुर के लोगों ने मुझे हमेशा प्यार दिया और और पांच बार चुना है। आज मैं डिप्टी सीएम बनने के बाद पहली बार यहां आया हूं। मैं यहां की जनता के प्रति प्यार और स्नेह के लिए अभार व्यक्त करता हूं।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.