ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी 3.0: कानून व्यवस्था को बेहतर करने के साथ बनाया गया इंवेस्टमेंट फ्रेंडली माहौल- CM योगी

यूपी इन्वेस्टर्स समिट की (UP investors summit) ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में उत्तर प्रदेश CM योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने कहा कि यूपी सरकार निवेशकर्ताओं को हर संभव सहयोग एवं सुविधा प्रदान करने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है।

Share This News
UP investors summit

लखनऊ: प्रधानमंत्री मोदी ने इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में यूपी इन्वेस्टर्स समिट (UP investors summitकी ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी @ 3.0 का उद्घाटन किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश के इस तीसरे ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में 80 हजार करोड़ रुपये की लागत से नई परियोजनाओं के कार्य को आगे बढ़ाने के दृश्य से ये कार्यक्रम यहां प्रारंभ हो रहा है। 2018 में प्रथम इन्वेस्टर समिट के समय हमें 4 लाख 68 हजार करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुए थे। जिसमें से 5 वर्षों के दौरान 3 लाख करोड़ से अधिक के निवेश प्रस्ताव को जमीनी स्तर पर उतारने में हमें मदद मिली।

‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ में उत्तर प्रदेश आज दूसरे स्थान पर

यूपी इन्वेस्टर्स समिट की (UP investors summit) ग्राउंड Breaking सेरेमनी में उत्तर प्रदेश CM योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने कहा कि यूपी सरकार निवेशकर्ताओं को हर संभव सहयोग एवं सुविधा प्रदान करने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है। मैं निवेशकों को आश्वस्त करता हूं कि प्रदेश में उनका निवेश सुरक्षित होगा। आप सबको प्रदेश पर विश्वास व्यक्त करने हेतु धन्यवाद देता हूं। उन्होनें कहा कि बुंदेलखंड क्षेत्र जो विकास व जल के लिए तरसता था, आज वहां बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे व डिफेन्स कॉरिडोर के 02 प्रमुख नोड झांसी एवं चित्रकूट में बन रहे हैं। ‘हर घर नल’ योजना से प्रत्येक घर तक शुद्ध पेयजल की आपूर्ति का कार्यक्रम आगे बढ़ा रहे हैं।

Read Also:- UP investors summit: पीएम मोदी बोले- भारत, दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा ऊर्जा उपभोक्ता वाला देश

लीड्स रैंकिंग-2021 में उत्तर प्रदेश को 7 स्थानों की उल्लेखनीय बढ़ोतरी प्राप्त हुई

CM बोले उत्तर प्रदेश ने 2017 में अपनी औद्योगिक निवेश और रोजगार प्रोत्साहन नीति लागू की थी। इसके साथ ही हम लोगों ने 20 इन्वेस्टमेंट फ्रेंडली सेक्टोरियल पॉलिसी को उद्यमिता, इनोवेशन और ‘मेक इन इंडिया’ की तर्ज पर आगे बढ़ाने का कार्य किया। प्रदेश में श्रम, भूमि आवंटन, संपत्ति रजिस्ट्रेशन, पर्यावरणीय अनुमोदन, कर भुगतान आदि क्षेत्रों में रिकॉर्ड 500 से अधिक सुधार लागू किए गए। निवेश मित्र के रूप में 29 विभागों की 349 सेवाएं आज इंवेस्टर्स को प्रदेश में ऑनलाइन प्राप्त हो सकती हैं। मेगा एवं उससे उच्च श्रेणी के उद्योगों को आवेदन करने के 15 दिन में भूमि प्रदान करने का प्रावधान इस व्यवस्था के साथ लागू किया गया है। कानून व्यवस्था को बेहतर करने के साथ इंवेस्टमेंट फ्रेंडली माहौल बनाया गया।

हम लोगों ने PM के ‘रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म’ मंत्र को अंगीकार किया

आगे उन्होनें कहा कि ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ में उत्तर प्रदेश आज दूसरे स्थान पर है। लीड्स रैंकिंग-2021 में उत्तर प्रदेश को 07 स्थानों की उल्लेखनीय बढ़ोतरी प्राप्त हुई है। प्रदेश ने अपने परंपरागत उद्यम को बढ़ाते हुए आज UP ODOP जैसी योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के फलस्वरूप निर्यात को 88,000 करोड़ से बढ़ाकर ₹1.56 लाख करोड़ सालाना करने में भी सफलता प्राप्त की है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.