Advertisement

दोषपूर्ण सड़क इंजीनियरिंग हादसों की मुख्य वजह : नितिन गडकरी

Share
Advertisement

Gandhi Nagar : सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि दोषपूर्ण सड़क इंजीनियरिंग अक्सर देश में हर वर्ष होने वाली 5 लाख दुर्घटनाओं की वजह होती है। उन्होंने इंजीनियरों से जीवन बचाने के लिए ब्लैक-स्पॉट को हटाने की दिशा में कार्य करने का अनुरोध किया।

Advertisement

भारतीय सड़क कांग्रेस के वार्षिक सत्र को किया संबोधित

भारतीय सड़क कांग्रेस के 82 वें वार्षिक सत्र को संबोधित करते हुए नितिन गडकरी ने वैकल्पिक सामग्री और नवीनतम तकनीक का उपयोग करके गुणवत्ता से समझौता किए बिना निर्माण लागत कम करने और परियोजनाओं को वक्त पर पूरा करने का आह्वान किया। भारत में सालाना 5 लाख दुर्घटनाएं और 1.5 लाख मौतें होती हैं और तीन लाख लोग घायल होते हैं।

अक्सर सड़क इंजीनियरिंग में गलती होती है

इससे देश की जीडीपी को तीन फीसदी का नुकसान हुआ। बलि के मेमने की तरह हर दुर्घटना के लिए ड्राइवर को दोषी ठहराया जाता है। लेकिन, मेरे अनुभव के मुताबिक अक्सर सड़क इंजीनियरिंग में गलती होती है। उन्होंने कहा कि सड़कों का निर्माण करते समय यह सुनिश्चित करना चाहिए कि दुर्घटनाओं को रोकने के लिए उनकी ठीक से इंजीनियरिंग की जाए।

गडकरी भी हुए थे सड़क हादसे के शिकार

गडकरी ने कहा कि मैं भी एक दुर्घटना का शिकार हो गया था और मेरी 4 हड्डियां टूट गई थीं। दुर्घटना में होने वाली मौतों में 60 प्रतिशत मौतें 18 से 34 वर्ष की आयु के लोगों की होती हैं।

उत्तरकाशी सुरंग घटना पर गडकरी ने क्या कहा?

उत्तरकाशी सुरंग घटना पर गडकरी ने कहा कि कोई उन लोगों को नहीं भूल सकता जो सुरंग के अंदर गए और अंदर फंसे लोगों की जान बचाने के लिए अपनी जान जोखिम में डाली। जब लोग सुरंग में फंस गए थे, तो मुझे रोजाना ब्रीफिंग मिलती थी और मैं बहुत चिंतित था। हम कुछ नहीं कर पा रहे थे।

यह भी पढ़ें – तीन राज्यों में बीजेपी की जीत पर क्या बोले अखिलेश यादव ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *