ममता दीदी आपको 3 बार चुनने के बाद भी आप सुधर नहीं रही: अमित शाह

सिलीगुड़ी रैली में केंद्रीय मंत्री अमित शाह (Amit Shah in Siliguri) बोले देशभर में कुछ भी होता है तो ममता दीदी टीएमसी का डेलीगेशन भेजती हैं। दीदी, बीरभूम में 8 महिलाओं और 1 बच्चे को जिंदा जला दिया गया, वहां आपने डेलीगेशन क्यों नहीं भेजा?

Share This News
Amit Shah in Siliguri

पश्चिम बंगाल: केंद्रीय मंत्री अमित शाह (Amit Shah in Siliguri) ने कहा चुनाव के बाद यहां जो हिंसा हुई उसके बाद मानवाधिकार आयोग ने कहा कि बंगाल में कानून का राज नहीं है बल्कि यहां जो सत्ता में है उनकी इच्छा का राज है। यहां 101 लोगों की हत्या कर दी, 1829 लोग घायल हुए और 161 से ज्यादा मुकदमों में टीएमसी के गुंडे अपराधी पाए गए। ममता दीदी आपको 3 बार चुनने के बाद भी आप नहीं सुधर रही हैं, जब तक आप बंगाल की जनता पर अत्याचार, भ्रष्टाचार, कटमनी और सिंडिकेट का राज खत्म नहीं करेंगी तब तक भाजपा अपनी लड़ाई चालू रखेगी।

ममता दीदी भेजती हैं टीएमसी का डेलीगेशन

सिलीगुड़ी रैली में केंद्रीय मंत्री अमित शाह (Amit Shah in Siliguri) बोले देशभर में कुछ भी होता है तो ममता दीदी टीएमसी का डेलीगेशन भेजती हैं। दीदी, बीरभूम में 8 महिलाओं और 1 बच्चे को जिंदा जला दिया गया, वहां आपने डेलीगेशन क्यों नहीं भेजा? बीरभूम वाले आपके लोग नहीं हैं क्या? ममता दीदी ने बंगाल को आर्थिक रूप से कंगाल कर दिया है। 1947 में बंगाल का देश की जीडीपी में 30% हिस्सा था जो 2022 में घटकर 3.3% कर दिया गया। ममता दीदी क्या आप बंगाल की जनता को जवाब देंगी?

गोरखा भाइयों-बहनों को दीदी हमेशा गुमराह करती रही

शाह बोले पूरे देश में बिजली का दाम सबसे ज्यादा बंगाल में हैं। देश में पेट्रोल का दाम 115 रुपये अगर कहीं है तो बंगाल में है। जहां बीजेपी की सरकार है वहां पेट्रोल 105 रुपये में मिलता है।… आज भी यहां के गरीबों को आयुष्मान भारत योजना का फायदा नहीं मिलता है। गोरखा भाइयों-बहनों को दीदी हमेशा गुमराह करती रही है। मैं आज गोरखा भाइयों-बहनों को कहने आया हूं कि अगर कोई एक पार्टी है जो गोरखाओं के हित में सोचती है तो वो केवल भाजपा है। हमने कहा है कि संविधान की मर्यादाओं के तहत सारी समस्याओं का स्थायी राजनीतिक समाधान ढूंढ लिया जाएगा।

Read Also:- बंगाल में अमित शाह, बोले- BSF में अब महिलाओं की भी होने लगी है तैनाती

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.