पैगंबर पर टिप्पणी: मायावती का BJP पर वार, बोलीं- अपने लोगों पर सख्ती से कसे शिकंजा, भेजें जेल

उत्तर प्रदेश की पूर्व सीएम मायावती (Mayawati gave advice to BJP) ने कहा कि देश में सभी धर्मों के लोग रहते हैं, इसलिए सभी धर्मों का सम्मान जरूरी है।

Share This News
Mayawati gave advice to BJP

लखनऊ: भाजपा प्रवक्ता नुपूर शर्मा की ओर से पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी मामले में बसपा सुप्रीमो मायावती ने बीजेपी को नसीहत (Mayawati gave advice to BJP) दे डाली है। मायावती ने इस मामले में कहा है कि BJP को अपने लोगों पर सख्ती से शिकंजा कसना चाहिए, जो इस तरह के बयान देते हैं। ऐसे लोगों को केवल सस्पेंड करने और पार्टी से निकालने से काम नहीं चलेगा, बल्कि उन्हें सख्त कानूनों के तहत जेल भेजना चाहिए। मायावती ने ये भी कहा कि बीएसपी की मांग है कि कानपुर में अभी हाल ही में जो हिंसा हुई है, उसकी तह तक जाना बहुत जरूरी है।

केवल सस्पेंड करने और पार्टी से निकालने से काम नहीं चलेगा

उत्तर प्रदेश की पूर्व सीएम मायावती (Mayawati gave advice to BJP) ने कहा कि देश में सभी धर्मों के लोग रहते हैं, इसलिए सभी धर्मों का सम्मान जरूरी है। किसी भी धर्म के लिए आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल उचित नहीं है। बता दें कि रविवार को BJP ने नूपुर शर्मा (Nupur Sharma Suspended) और नवीन जिंदल को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित (Naveen Jindal Expelled) कर दिया है। बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा ने हाल ही में पैगंबर मोहम्मद पर विवादित बयान दिया था जिसके बाद इसको लेकर काफी विरोध भी जताया गया। बयान पर मचे हंगामे के बाद बीजेपी की ओर से एक्शन लिया गया है।

Mayawati gave advice to BJP: सख्त कानूनों के तहत जेल भेजना चाहिए

धर्म को लेकर दिए गए विवादित बयानों (Controversial Remarks) से नूपुर शर्मा के साथ ही बीजेपी मीडिया प्रभारी नवीन जिंदल को भी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया है। पैगंबर मुहम्मद पर विवादित टिप्पणी के मामले में पार्टी से सस्पेंड हुईं नुपुर शर्मा (Nupur Sharma) ने ट्वीट कर अपनी सफाई में कहा है कि ‘मैं पिछले कई दिनों से टीवी डिबेट पर जा रही थी, जहां रोज़ाना मेरे आराध्य शिव जी का अपमान किया जा रहा था।

Read Also:- BJP से निष्कासित हुए नवीन जिंदल को मिली सिर काटने की धमकी, पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ की थी विवादित टिप्पणी

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.