BJP से निष्कासित हुए नवीन जिंदल को मिली सिर काटने की धमकी, पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ की थी विवादित टिप्पणी

Controversial Remarks

नई दिल्ली: भाजपा से सस्पेंड हुई नुपुर शर्मा और निलंबित हुए नवीन जिंदल ने मीडिया से अपील की है कि उनके  घर का पता शेयर ना करें, क्योंकि इससे उन्हें और उनके परिवार को खतरा हो सकता है। बता दें कि रविवार को BJP ने नूपुर शर्मा (Nupur Sharma Suspended) और नवीन जिंदल को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित (Naveen Jindal Expelled) कर दिया था। बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा ने हाल ही में पैगंबर मोहम्मद पर विवादित बयान (Controversial Remarks) दिया था जिसके बाद इसको लेकर काफी विरोध भी जताया गया। बयान पर मचे हंगामे के बाद बीजेपी की ओर से एक्शन लिया गया है।

BJP से निष्कासित हुए नवीन जिंदल को मिली सिर काटने की धमकी

धर्म को लेकर दिए गए विवादित बयानों (Controversial Remarks) से नूपुर शर्मा के साथ ही बीजेपी मीडिया प्रभारी नवीन जिंदल को भी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया है। पैगंबर मुहम्मद पर विवादित टिप्पणी (Controversial remarks ) के मामले में पार्टी से सस्पेंड हुईं नुपुर शर्मा (Nupur Sharma) ने ट्वीट कर अपनी सफाई में कहा है कि ‘मैं पिछले कई दिनों से टीवी डिबेट पर जा रही थी, जहां रोज़ाना मेरे आराध्य शिव जी का अपमान किया जा रहा था।

Read Also:- पैगंबर पर टिप्पणी को लेकर बीजेपी का कड़ा एक्शन, प्रवक्ता नूपुर शर्मा 6 साल के लिए सस्पेंड, नवीन कुमार जिंदल भी निलंबित

नुपुर शर्मा ने कहा कि मेरे सामने यह कहा जा रहा था कि वो शिवलिंग नहीं फव्वारा है, दिल्ली के हर फुटपाथ पर बहुत शिवलिंग (Shivling) पाए जाते हैं, जाओ जा कर पूजा कर लो। बीजेपी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि पार्टी सभी धर्मों का सम्मान करती है। बीजेपी ने कहा कि पार्टी किसी भी धर्म से जुड़े व्यक्तित्व के आलोचना की कड़ी निंदा करती है। बीजेपी के इस बयान को पार्टी नेता नूपुर शर्मा (Nupur Sharma Suspended) के बयान के संदर्भ में देखा जा रहा था।

कार्रवाई के बाद नवीन कुमार जिंदल बोले- मेरी जान को खतरा…

इस कार्रवाई के होने के बाद नवीन कुमार जिंदल ने कहा कि मेरा सभी से विशेष आग्रह है कि मेरा पता सार्वजनिक न करें। सोशल मीडिया पर मुझे और मेरे परिवार को लगातार जान से मारने की धमकियां दी जा रही हैं। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि हम सभी धर्मों की आस्था का सम्मान करते हैं, लेकिन सवाल सिर्फ़ उन मानसिकता वालों से था जो हमारे देवी-देवताओं पर अभद्र टिप्पणियों का प्रयोग करके नफ़रत फैलाते हैं।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.