BJP का ‘किसान सम्मेलन’, सीएम योगी बोले- सरकार बनते ही किसानों का किया कर्ज़ माफ

लखनऊ: किसान सम्मेलन में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा 2014 में आदरणीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने शपथ लेने के बाद मीडिया से बात करते हुए कहा था कि उनकी सरकार गांव, गरीब, किसान, महिला, शोषित और वंचित के लिए काम करेगी। किसी का चेहरा देखकर कोई काम नहीं किया जाएगा।

सीएम बोले कि 2004 से लेकर 2014 तक का शासन आपने देखा होगा? देश और प्रदेश के लिए अंधकार युग था। यूपी का विकास एकदम रुक गया था। अराजकता व गुंडागर्दी का बोलबाला था। कोई सुरक्षित नहीं था। प्रदेश का किसान आत्महत्या व गरीब भूख से मर रहा था। सपा-बसपा की सरकारों नें किसानों की उपज खरीदने की व्यवस्था क्यों नहीं की। जो आज किसानों के हितैषी बने हैं, वो तब कहां थे?

पिछले 4.5 सालों के अंदर हमने किसानों से अन्न की रिकॉर्ड खरीद की

विपक्ष पर हमला करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले 4.5 सालों के अंदर हमने किसानों से अन्न की रिकॉर्ड खरीद की है। इससे पहले की सरकारें भी कर सकती थीं। पिछली सरकारों से पूछना चाहिए कि उन्होंने किसानों से अन्न खरीदने की व्यवस्था क्यों नहीं की? बहुजन समाजवादी सरकार के दौरान 21 चीनी मिलें बंद हुई थीं। उन्होंने औने-पौने दामों पर चीनी मिलों को बेच दिया था। 250-300 करोड़ रुपए की चीनी मिलों को 25-30 करोड़ रुपए में बेचने का काम हुआ था।

पराली जलाने को लेकर किसानों पर दर्ज हुए सारे मुकदमें वापस लेने की कार्रवाई शुरु कर दी गई: CM

उन्होनें कहा कि पिछली सरकारों में गन्ना किसानों को अपनी उपज जलाने की नौबत थी, क्योंकि उस असमय चीनी मिलें बंद हो जाती थीं। पिछली सरकार में काम करने के लिए साफ नियत और सही सोच दोनों नहीं था। जब किसान आत्महत्या कर रहा था, तब सपा, बसपा और कांग्रेस के लोग कहां थे? पिछली सरकारें किसानों के पेट पर लात मार रही थीं। इच्छाशक्ति वाली भाजपा सरकार ने टीमवर्क के साथ काम किया। चीनी मिलों को चालू कराने का काम किया।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.