Advertisement

ADGP की चिट्ठी से पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक पर बड़ा खुलासा, पंजाब सरकार के दावों की खुली पोल

What is Blue Book
Share
Advertisement

बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले को लगभग 30 मिनट तक प्रदर्शनकारियों द्वारा रोके जाने को लेकर मामला गंभीर होता जा रहा है। हालांकि इस गंभीर मामले में चन्नी सरकार ने हाई लेवल कमेटी का गठन कर दिया है। लेकिन इस बीच ADGP की चिट्ठी से पंजाब सरकार के सभी दावों की पोल खुल गई है।

Advertisement

एडीजीपी की चिट्ठी के मुताबिक, पंजाब सरकार को किसानों के प्रदर्शन की जानकारी पहले से थी। एडीजीपी ने पंजाब पुलिस को लिखे गए पत्र में कहा था कि 5 तारीख को बारिश के अनुमान के साथ किसानों का धरना है, इसलिए सुरक्षा के खास इंतजाम किए जाने चाहिए।

पंजाब सरकार की खुली पोल

एडीजीपी की चिट्ठी से चन्नी सरकार के उस दावे की पोल खुल गई है जिसमें उन्होंने दावा किया था कि उनके पास पीएम मोदी के सड़क के रास्ते फिरोजपुर जाने की कोई जानकारी नहीं थी। इस संबंध में सीएम चन्नी ने कहा था कि पीएम मोदी की सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई है।

राष्ट्रपति ने जताई चिंता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में सेंध पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी चिंता जाहिर की है। इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी राष्ट्रपति से मुलाकात के लिए उनके आधिकारिक आवास पर पहुंचे।

सुप्रीम कोर्ट में कल हो सकती है सुनवाई

पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। पंजाब में पीएम नरेंद्र मोदी की सुरक्षा चूक के मामले की मेंशनिंग चीफ जस्टिस एनवी रमना (CJI NV Ramana) की बेंच के सामने की गई है। शुक्रवार (7 जनवरी) को मामले पर सुनवाई हो सकती है।

पंजाब सरकार ने जांच के लिए गठित की कमेटी

पंजाब सरकार ने पीएम मोदी के फिरोजपुर दौरे के दौरान हुई चूक की जांच के लिए उच्च स्तरीय कमेटी का गठन कर दिया है। समिति में रिटायर्ड जज मेहताब सिंह गिल, प्रमुख सचिव (गृह मामलों) और न्यायमूर्ति अनुराग वर्मा होंगे। कमेटी 3 दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट पेश करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *