सिख महिला टीचर के जबरन धर्मांतरण पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पाकिस्तान को दी कड़ी चेतावनी

एस जयशंकर पाकिस्तान

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि भारत सरकार ने 20 अगस्त को देश के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में एक महिला सिख शिक्षिका के कथित अपहरण और जबरन धर्म परिवर्तन की घटना को पाकिस्तान सरकार के सामने उठाया।

राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग (एनसीएम) के जवाब में, जयशंकर ने कहा कि केंद्र सरकार ने इस तरह की चौंकाने वाली और निंदनीय घटना पर अपनी गंभीर चिंता व्यक्त की है।

विदेश मंत्री जयशंकर ने अपने जवाब में आगे कहा “भारत सरकार ने अपनी उम्मीदों को भी साझा किया है कि पाकिस्तान सरकार ईमानदारी से इसकी जांच करेगी और इस घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी। पाकिस्तान से भी देश में अल्पसंख्यक समुदायों के सदस्यों की सुरक्षा और कल्याण सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है, जिसमें उनके पूजा स्थल भी शामिल हैं।”

खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के बुनेर जिले में सिख महिला का कथित तौर पर बंदूक की नोक पर अपहरण कर लिया गया और उसके अपहरणकर्ता ने उससे जबरन शादी कर ली।

22 अगस्त को एनसीएम प्रमुख इकबाल सिंह लालपुरा ने जयशंकर को पत्र लिखकर अनुरोध किया था कि वह इस मामले को पाकिस्तान में अपने समकक्ष के साथ उठाएं ताकि इस प्रकार की घटना की पुनरावृत्ति न हो और पाकिस्तान में सिख समुदाय के प्रति नफरत को रोकने, उसका मुकाबला करने और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उचित कदम उठाए जाएं।

इस जयशंकर ने 17 सितंबर को एनसीएम प्रमुख को वापस लिखा कि सरकार ने इस घटना पर ध्यान दिया है और जैसे ही घटना की रिपोर्ट मिली, उसने राजनयिक चैनलों के माध्यम से पाकिस्तान सरकार के साथ मामला उठाया।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *