उत्तराखंड सरकार सभी मंदिरों के संवर्धन और संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध : CM धामी

रिपोर्ट- ओम प्रयास
हरिद्वार: उत्तराखंड मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी आज हरिद्वार दौरे पर रहे। हरिद्वार पहुंचे उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने निरंजनी अखाड़े पहुंचकर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद द्वारा आयोजित मुख्यमंत्री के स्वागत एवं सम्मान समारोह में शिरकत की और कार्यक्रम में मौजूद सभी अखाड़ो के साधु संतों से भेंट कर आशीर्वाद लिया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जहां जूना अखाड़ा में विशाल त्रिशूल स्थापित करने की घोषणा की वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री ने सूबे में बढ़ते कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन को लेकर सरकार की तैयारियों से अवगत भी कराया।

बता दें कि 30 नवंबर को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने देवस्थानम बोर्ड को भंग करने की घोषणा की थी। मुख्यमंत्री की इस घोषणा के बाद साधु-संतों और तीर्थ पुरोहितों ने अपनी अपनी खुशी जाहिर की थी। देवस्थानम बोर्ड को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सरकार द्वारा भंग किए जाने के बाद हरिद्वार के साधु-संतों तीर्थ पुरोहितों में खुशी की लहर है। देवस्थानम बोर्ड भंग होने की खुशी में आज अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के अभिनंदन स्वागत समारोह का आयोजन निरंजनी अखाड़े में किया।

उत्तराखंड सरकार सभी मंदिरों के संवर्धन और संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध : CM

इस दौरान मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि मैं साधु संतों का आभार व्यक्त करता हूँ। हरिद्वार में साधु संतों का आशीर्वाद पाकर मैं धन्य हूँ। साधु संतों का आशीर्वाद मेरे लिए प्रेरणा है और नए नए कार्य करने की साधु-संतों से मुझे ऊर्जा मिलती है। देवस्थानम बोर्ड जो हमारे द्वारा भंग किया गया है उसमे उत्तराखंड के सभी लोगो की इच्छाओं का संज्ञान लेकर बंद किया गया। उत्तराखंड सरकार सभी मंदिरों के संवर्धन और संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध।उत्तराखंड राज्य सभी राज्यों से श्रेष्ठ बने इसके लिए एक रोडमैप तैयार किया जा रहा है और हमारे द्वारा की गई सभी घोषणाओ को धरातल पर उतारने का कार्य किया जा रहा है।

कोरोना को लेकर सरकार पूरी तरह सजग : मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी

सूबे में कोरोना के ने वैरिएंट ओमिक्रोन के बढ़ते प्रकोप पर चिंता व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि कोरोना को लेकर सरकार पूरी तरह सजग है।संक्रमण के खतरे का संज्ञान करते हुए सरकार द्वारा हाई पावर बैठक लगातार की जा रही है। हमारे द्वारा एक दिन में 25000 लोगो की टेस्टिंग का लक्ष्य रखा गया। लोगों की जान माल की सुरक्षा के लिए जो भी कार्य जरूरी है वह सरकार द्वारा किए जाएंगे और सरकार लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है। रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट और बस स्टैंड सभी जगह पर जल्द ही रैपिड एंटीजन टेस्ट भी दोबारा से शुरू किया जाएंगे।

Share Via

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *