प्रशांत किशोर और नीतीश कुमार की मुलाकात बदल सकती है बिहार का राजनीतिक समीकरण, जानें

भारत की राजनीति में प्रशांत किशोर बहुत योगदान रखते हैं। हालांकि प्रशांत किशोर खुद राजनीति में सीधे तौर पर सामने नहीं आए लेकिन देश की सियासत में इनकी उपस्थति बहुत बड़ी है।आपको बता दें कि हाल ही में बिहार के मौजूदा मुख्यमंत्री ने भी प्रशांत किशोर उर्फ पीके से मुलाकात हुई। जानकारी के हिसाब से पवन वर्मा ने इनसे मुलाकात करवाई। जैसी ही इस मुलाकात की खबरें सामने आईं तुरंत ही कयासों के बाजार गर्म होने लगे। कुछ  लोगों का ये भी कहना है कि अब बिहार की राजनीति में कुछ तो बड़ा उलटफेर होने वाला है। कई जगह तो ये भी चर्चा है  कि कहीं न कहीं  बिहार के मुख्यमंत्री पीके  की तरफ झुकते दिखाई दे रहें हैं। इसी कड़ी में गुरुवार 15 सितंबर को एक ट्वीट कर प्रशांत किशोर ने इशारों-इशारों में कई बातें कह डालीं।

‘तेरी सहायता से जय तो मैं अनायास पा जाउंगा,


बेगूसराय फायरिंग कांड के बाद प्रशांत किशोर ने उसी धरती पर जन्मे राष्ट्रकवि दिनकर के शब्दों का सहारा लिया।पीके ने ट्वीट किया कि ‘तेरी सहायता से जय तो मैं अनायास पा जाऊंगा, आनेवाली मानवता को, लेकिन, क्या मुख दिखलाऊंगा?- दिनकर’। सवाल ये कि पीके किसकी सहायता की बात कर रहे हैं। ये जानना मुश्किल नहीं है कि उन्होंने हाल ही में नीतीश कुमार से मुलाकात की है और इशारा भी एक अणे मार्ग की तरफ ही है।  फिलहाल इस ट्वीट से राजनीतिक हवाओं में तो बदलाव आना तय है

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *