Harbhajan Singh का फिर छलका दर्द, बोले- BCCI में मेरा कोई नहीं, धोनी पर रखी बेबाक राय

भारत के दिग्गज स्पिनर रहे हरभजन सिंह ने पिछले महीने क्रिकेट से संन्यास ले लिया था. हरभजन सिंह आगामी IPL में बतौर सपोर्ट स्टाफ किसी फ्रेंचाइजी टीम से जुड़ने की उम्मीद है. वैसे, संन्यास लेने के बाद हरभजन अपने बयानों को लेकर काफी सुर्खियों में हैं. यही नहीं, भज्जी के राजनीति में भी आने के कयास लगाए जा रहे थे. हरभजन सिंह अभी राजनीति में नहीं गए हैं.

भज्जी ने रखी बेबाक राय

अब, हरभजन ने एक बार फिर अपने करियर से जुड़े मसलों पर अपनी बेबाक राय रखी है. हरभजन का कहना है कि वह भारतीय टीम की कप्तानी इसलिए नहीं कर पाए, क्योंकि BCCI में उनकी कोई जान-पहचान नहीं थी. इसके अलावा हरभजन सिंह ने अनिल कुंबले और MS Dhoni के साथ संबंधों के बारे में खुलकर बात की.

हरभजन ने एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा, यह भी एक उपलब्धि है जिसके बारे में कोई बात नहीं करता- मेरी कप्तानी. मैं BCCI में किसी को नहीं जानता था, कोई होता जो मेरे मामले को आगे बढ़ा सकता क्योंकि नेशनल टीम की कप्तानी के लिए यह आवश्यक है. अगर आप किसी पावरफुल शख्स के पसंदीदा में से नहीं हैं, तो आपको ऐसा सम्मान नहीं मिलता है.

मैं अनिल कुंबले की परछाई भी नहीं…

आगे हरभजन सिंह ने जंबो यानि पूर्व कप्तान ‘अनिल कुंबले’ पर बोलते हुए कहा कि मैं अनिल भाई की परछाई भी नहीं हूं, मेरे में उनके लिए सबसे ज्यादा सम्मान है. जहां तक मुझे क्रिकेट की समझ है, उनसे बड़ा मैच विनर कोई नहीं हुआ. उनके साथ खेलना मेरे लिए सौभाग्य की बात रही है. हां, कई मौकों पर मुझे उनके ऊपर प्लेइंग इलेवन में चुना गया था, जैसा कि 2003 विश्व कप के दौरान हुआ था. लेकिन मैंने इन सब चीजों को लेकर उन्हें कभी चिंतित नहीं देखा. उन्हें कभी नहीं लगा कि मैं क्यों खेल रहा हूं और वह नहीं. 

Dhoni पर बोले भज्जी

पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी पर बोलते हुए हरभजन सिंह ने कहा ‘हर कोई अलग-अलग तरीके से व्याख्या करता है. मैं केवल यह बताना चाहता था कि 2012 के बाद बहुत सी चीजें बेहतर हो सकती थीं. सहवाग, मैं, गौतम गंभीर भारतीय टीम के लिए खेलकर संन्यास ले सकते थे क्योंकि हम सभी IPL में भी सक्रिय थे. यह विडंबना हमेशा रहेगी कि 2011 की टीम के चैम्पियंस फिर कभी एक साथ नहीं खेले. उनमें से कुछ ही 2015 विश्व कप में खेले, क्यों? यह BCCI ही बता सकता है और रही बात धोनी की मेरे उनसे काफी समय से दोस्ती रही है.

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.