बच्चों के हाथों से उतार दी गई राखी, मचा बवाल, जानिए कहां का है ये मामला

वैसे तो राखी भारतीय संस्कृति का परिचारक माना जाता है। बदलते दौर में कुछ लोग इस त्योहार को भी अपनी गंदी सोंच से दूषित कर देते हैं। इस तरह से अब मंगलुरु के एक स्कूल में राखी पर विवाद सामने आया है। जहां स्कूल के शिक्षकों ने न केवल बच्चों को हाथों से राखियां उतारने के लिए मजबूर किया बल्कि कुछ बच्चों के हाथों से तो राखियों   को उतारकर कूड़ेदान में फिकवा दिया था।

इस मामले की खबर आने के बाद से ही अभिभावकों में स्कूल प्रशासन के प्रति जबरदस्त रोष है। इसे लेकर कई अभिभावकों ने शुक्रवार को स्कूल परिसर के बाहर विरोध-प्रदर्शन किया। 

  हिंदू संगठन आए बच्चे के साथ

  मिली जानकारी के मुताबिक ये घटना मंगलुरु के कटिपल्ला के इन्फैंट मैरी इंग्लिश मीडियम स्कूल की है। मिशनरी स्कूल के शिक्षकों ने स्कूल में रक्षाबंधन त्योहार पर बहनों के द्वारा बांधी गईं राखियों को पहनकर गए बच्चों के हाथों से राखियां को उनके हाथों से हटवा दिया है।  

घटना की जानकारी होने के बाद बच्चों के माता-पिता, अभिभावकों ने इन्फैंट मेरी इंग्लिश स्कूल में विरोध प्रदर्शन किया। हिंदू छात्रों के साथ स्कूल में घटित इस घटना की जानकारी मिलते ही कई हिंदू संगठनों ने भी प्रदर्शन में भाग लिया और स्कूल प्रशासन के रवैये पर कड़ी आपत्ति जताई। 

स्कूल के कन्वेनर फादर लोबो ने की बच्चों जैसी बात

हालांकि, मामला आगे बढ़ने पर स्कूल के कन्वेनर फादर संतोष लोबो ने पूरे घटनाक्रम पर सफाई भी दी है। फादर संतोष लोबो ने कहा कि हमने सभी कर्मचारियों की बैठक की। गलती करने वालों ने माफी मांग ली है और समस्या का हल निकाल लिया जाएगा। उन्होंने ने बच्चों जैसी बातें करते हुए कहा कि टीचर्स को ये राखियां  Friendship Band  नजर आईं होगी तभी ऐसा हुआ। खबर ये भी है कि फिलहाल के लिए  उन अध्यापकों  नें माफी भी मांग ली है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.