Advertisement

Uniform Civil Code: उत्तराखंड की जनजातियां यूसीसी से हो सकती हैं बाहर, जल्द सरकार लेगी फैसला

Uniform Civil Code
Share
Advertisement

Uniform Civil Code: थारू जाति उत्तराखंड और कुमाऊँ में सबसे बड़ा आदिवासी समुदाय है। इसके बाद जौनसारी राज्य की दूसरी सबसे बड़ी जाति है। भोटिया जाति राज्य की सबसे प्राचीन जाति मानी जाती है। उत्तराखंड के आदिवासियों को समान नागरिक संहिता (Uniform Civil Code) से छूट दी गई है। शहर में सात मुख्य कबीले हैं जिनके अलग-अलग रीति-रिवाज और नियम हैं। लेकिन यह सरकार इसे पूरा नहीं कर सकी हालांकि इसका लक्ष्य राज्य में हर राज्य के लिए एक समान नागरिक राज्य लागू करना था लेकिन आदिवासियों को इससे बाहर किया जा सकता था।

Advertisement

अब सरकार को इस पर फैसला लेना है. थारू उत्तराखंड और कुमाऊँ में सबसे बड़ा आदिवासी समुदाय है। हातिमा नानाकुमट्टा शिदरगंज और उधम सिंह नगर में किच्छा जैसे इलाकों में थारू लोग रहते हैं।

Uniform Civil Code: सबके हैं अपने अलग रीति रिवाज

झांसारी इसके बाद दूसरा सबसे बड़ा जनजातीय राज्य है जो मुख्य रूप से बाबर जिले और देहरादून के चकराता कालसी धूनी लाखमंडल क्षेत्र जौनपुर टेहरी और उत्तरकाशी के बर्ग नेगन जिले में स्थित है। भोडिया जाति राज्य की सबसे पुरानी जनजाति मानी जाती है।

भोटियाओं की कई उपजातियाँ हैं जैसे मलाचा ​​तोर्चा जोहारी शोका दरमियान चौंदाशी व्यासी जाड जेथरा और चपरा (बकरिया)। भोटिया लोग हिमालय की तलहटी में रहते हैं। यह जाति पिथौरागढ चमोली उत्तरकाशी में निवास करती है। दूसरी ओर बोक्सा लोग राज्य के तराई बाबर क्षेत्र में उधम सिंह नगर के बाजपुर गदरपुर और काशीपुर पौडी में और देहरादून में विकास नगर डोईवाला और सहसपुर विकास क्षेत्र में 173 गांवों के हैं। में रहते है।

Hindi Khabar App: देश, राजनीति, टेक, बॉलीवुड, राष्ट्र, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल, ऑटो से जुड़ी ख़बरो को मोबाइल पर पढ़ने के लिए हमारे ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड कीजिए

ये भी पढ़े: Lal Krishna Advani: लालकृष्ण आडवाणी होंगे भारत रत्न से सम्मानित, पीएम ने दी जानकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें