Advertisement

Rajasthan: CM गहलोत के मंत्री के घर ED की कार्रवाई, जानिए क्या आया राजेंद्र यादव का रिएक्शन

Share
Advertisement

Rajasthan: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के मंत्री राजेन्द्र यादव के आवास और पारिवारिक रिश्तेदारों के यहां ईडी ने रेड डाली। मंगलवार सुबह 7 बजे केन्द्रीय रिजर्व फोर्स के साथ ईडी मंत्री के आवास पर पहुंची। कोटपूतली स्थित फैक्ट्री पर छापा मारा। ईडी की टीम ने करीब घंटे तक सर्च की कार्रवाई की। मंत्री के दोनों बेटों के आवास पर तलाशी ली गई। मंत्री के आवास पर भी तलाशी ली गई। इस दौरान दो अलमारियों और एक बक्से की चाबियां नहीं मिलने पर ईडी के अफसरों ने मंत्री के सामने ही अलमारियों और बक्शों के ताले तुड़वाए। उनमें रखे दस्तावेज जब्त किए गए। मंत्री राजेन्द्र यादव के दोनों बेटों को पूछताछ के लिए ईडी दफ्तर ले जाया गया।

Advertisement

पैकेजिंग का काम है पुराना व्यापार

सुबह 7 बजे से लेकर शाम करीब 4 बजे ईडी के अधिकारियों ने सर्च की कार्रवाई की। ईडी के अफसरों के जाने के बाद मंत्री राजेन्द्र यादव की ओर से शाम साढ़े 6 बजे जयपुर के सिविल लाइंस स्थित सरकारी आवास पर प्रेस कांफ्रेंस बुलाई। इस दौरान यादव ने कहा कि पैकेजिंग का काम उनका पुराना व्यापार है जो राजस्थान के साथ उत्तराखंड और दिल्ली में भी चलता है। सर्च की कार्रवाई में कोई दिक्कत नहीं है लेकिन अगर दुर्भावना की वजह से बेवजह परेशान करना गलत है। यादव ने बताया कि उनके दोनों बेटों को पूछताछ के लिए बुलाया है। दोनों के मोबाइल भी जब्त किए हैं।

आरोपों में नहीं है बिल्कुल भी सच्चाई

मंत्री राजेन्द्र यादव ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि उनकी कंपनी का काम पैकेजिंग का है। कंपनी की ओर से अलग अलग कंपनियों को माल सप्लाई किया जाता है। उनकी कंपनी सरकार से कोई टेंडर नहीं लेती है। कुछ कंपनियों ने मिड डे मिल के टेंडर लिए हैं। वे कंपनियां उनकी कंपनी से माल खरीदती है तो कंपनी की ओर से सप्लाई दी गई। किसी कंपनी को माल सप्लाई देना कोई गुनाह नहीं है। मंत्री यादव ने कहा कि मिड डे मिल में माल सप्लाई में जो धांधली के आरोप लगाये जा रहे हैं। उन आरोपों में बिल्कुल भी सच्चाई नहीं है।

कांग्रेस में ही रहेंगे और चुनाव भी लड़ेंगे

मंत्री राजेन्द्र यादव ने कहा कि अब चुनाव आने वाले हैं। आचार संहिता लगने से 10 दिन पहले ईडी की कार्रवाई होने के पीछे राजनैतिक षड्यंत्र नजर आ रहा है। उन्होंने कहा कि वे कानूनी रूप से लड़ाई लड़ते रहेंगे। राजेन्द्र यादव ने कहा कि वे राजनैतिक लड़ाई लड़ने में भी सक्षम हैं। पार्टी उनके साथ खड़ी है। वे कांग्रेस में ही रहेंगे और आने वाले दिनों में चुनाव भी लड़ेंगे। सालभर पहले आयकर विभाग की रेड भी पड़ी थी लेकिन कोई गड़बड़ी नहीं पाई गई।

ये भी पढ़ें: CM बोले-पद छोड़ना चाहता हूं, ये मुझे नहीं छोड़ रहा, भाजपा के अलावा दूसरी पार्टी को पैसा देने वाले पर ED-IT का छापा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *