Advertisement

‘CM नीतीश कुमार ने संत रविदास के आदर्शों, विचारों को जमीन पर उतारा’

Program in JDU State Office

Program in JDU State Office

Share
Advertisement

Program in JDU State Office: शनिवार को जनता दल (यू) प्रदेश कार्यालय में संत शिरोमणि रविदास की 674वीं जयंती समारोह का आयोजन हुआ। जयंती समारोह में मुख्यमंत्री सह राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने बतौर मुख्य अतिथि शामिल होकर महान संत रविदास को भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की। अध्यक्षता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा एवं मंच का संचालन अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष राजेश त्यागी ने किया। इस मौके पर बड़ी संख्या में प्रदेशभर के जद(यू) कार्यकर्ता मौजूद रहे। कार्यक्रम की समाप्ति के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेतागण सामूहिक दलित भोज में भी शामिल हुए एवं कार्यकर्ताओं के साथ बैठकर भोजन ग्रहण किया।

Advertisement

नीतीश कुमार को बताया राजनीति का आधुनिक संत

उमेश सिंह कुशवाहा ने कहा कि रविदास जयंती के पावन अवसर पर आज हम सभी उनके जीवन से प्रेरणा लेने के लिए इस कर्पूरी सभागार में एकजुट हुए हैं। यह हमारे लिए सौभाग्य की बात है कि इस कार्यक्रम का शुभारंभ पार्टी के सर्वमान्य नेता एवं हिंदुस्तान की राजनीति के आधुनिक संत नीतीश कुमार की उपस्थिति में हुआ है। उमेश सिंह कुशवाहा कहा कि मुख्यमंत्री ने संत रविदास के आदर्शों एवं विचारों को जमीं पर उतारने का काम किया है।

‘नीतीश के विकास कार्यों में रविदास का प्रतिबिंब’

उन्होंने कहा, नीतीश कुमार के विकासकार्यों में संत रविदास के विचारों का प्रतिबिंब दिखाई देता है। नीतीश कुमार ने 15 अगस्त और 26 जनवरी के अवसर पर विशेष आयोजन के जरिए महादलित वर्ग के बुजुर्ग व्यक्ति को झंडोत्तोलन का मौका दिया, उनके इस कदम की प्रशंसा देशभर में हुई। इस मौके पर उमेश सिंह कुशवाहा ने आह्वान किया की नीतीश कुमार के हाथों को मजबूत बनाने के लिए बिहार की सभी 40 लोकसभा सीटें एनडीए की झोली में डालने का प्रण लें।

संजय कुमार झा ने तेजस्वी पर साधा निशाना

राज्यसभा सांसद संजय कुमार झा ने कहा कि नीतीश कुमार की ईमानदारी पर कोई भी प्रश्नचिह्न खड़ा नहीं कर सकता है। उन्होंने राजनीति में कभी अपने परिवार के लोगों को आगे नहीं बढ़ाया है। संजय कुमार झा ने तेजस्वी यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि जिन लोगों ने बेसिक पढ़ाई तक नहीं की वह भी हमारे नेता नीतीश कुमार के विजन पर सवाल उठा रहे हैं। नीतीश कुमार ने 10 लाख सरकारी नौकरी और 10 लाख रोजगार देने का जो वादा किया था उसे पूर्ण करने में वो दिनरात जुटें हुए है।

‘नीतीश ने किया संत रिवदास के जातिवाद खत्म करने की बातों का पालन’

पूर्व मंत्री अशोक चैधरी ने कहा कि संत रविदास जातिवाद को खत्म करने के लिए जिन बातों का जिक्र किया करते थे उसे हमारे नेता नीतीश कुमार ने अक्षरशः पालन किया है। नीतीश कुमार ने कल्याणीकारी योजनाओं के माध्यम से दलित और महादलित समाज को विकास की मुख्यधारा में जोड़ने का काम किया। बीते 18 सालों में अनुसूचित जाति-जनजाति कल्याण बजट में 400 गुणा की वृद्धि हुई।

‘नीतीश कुमार ने दिए वंचितों-शोषितों को अधिकार’

विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष महेश्वर हजारी ने कहा कि नीतीश कुमार ने बाबा साहब के संविधान को सही मायनों में जमीन पर उतारने का काम किए और वंचित-शोषित समाज को उनके अधिकार दिए हैं। पूर्व मंत्री रत्नेश सदा ने कहा कि नीतीश कुमार ने दलित-महादलित समाज को पंचायती राज में आरक्षण की सुविधा देकर उनके राजनीतिक भागीदारी को सुनिश्चित किया है। सा

‘दलित समाज के हितैषी हैं नीतीश कुमार’

पूर्व मंत्री सुनील कुमार ने कहा कि दलित समाज के युवाओं को उद्यमी योजना और स्टूडेंट क्रेडिट का लाभ मिल रहा है जिससे वे खुद को आर्थिक और शैक्षणिक रूप से सबल बना रहे हैं। जातीय गणना जैसे कार्य को अंजाम देकर नीतीश कुमार साबित कर दिया की वह शोषित, वंचित और दलित समाज से सबसे बड़े हितैषी हैं।

पार्टी के कई मंत्री और नेता रहे मौजूद

कार्यक्रम में मंत्री विजय कुमार चौधरी, विधान परिषद के मुख्य सचेतक संजय कुमार सिंह ‘‘गांधी जी’’, पूर्व मंत्री संतोष कुमार निराला, विधान पार्षद खालिद अनवर, पूर्व विधायक अरुण मांझी, मंजु देवी, ललन भूईया, श्याम बिहारी राम, विद्यानंद विकल, राम नरेश राम, हिमराज राम, हुलेश मांझी, रूबेल रविदास, शत्रुध्न पासवान, दीपक रजक, जॉर्ज मांझी, कंचन माला चैधरी, राम कुमार राम, रामप्रवेश राम, शिवशंकर राम, ललमुनी राम, मनोज चैधरी, आनंद रजक, वासुदेव कुशवाहा, संतोष कुशवाहा, नन्दकिशोर कुशवाहा आदि मौजूद रहे।

रिपोर्टः सुजीत श्रीवास्तव, ब्यूरोचीफ, बिहार

यह भी पढ़ें: बिहार की 40 सीटों पर एनडीए की जीत पक्की करनी है- उपेंद्र कुशवाहा

Hindi Khabar App: देश, राजनीति, टेक, बॉलीवुड, राष्ट्र, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल, ऑटो से जुड़ी ख़बरों को मोबाइल पर पढ़ने के लिए हमारे ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड कीजिए।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *