Advertisement

Aligarh: यति नरसिंहानंद सरस्वती का विवादित बयान… ‘ज्यादा से ज्यादा बच्चे पैदा करें हिन्दू वरना…’

Controversial Statement

Controversial Statement

Share
Advertisement

Controversial Statement: अलीगढ़ में मंगलवार को हिंदू सेवा संस्थान की ओर से सनातन धर्म सभा का आयोजन रामलीला मैदान में किया गया। इसमें पत्रकारों से वार्ता के दौरान यति नरसिंहानंद सरस्वती ने विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा कि आप सभी लोग इसका आकलन करिए, हम हिंदुओं ने तो बहुत पहले से एक बेटा-एक बेटी की परंपरा शुरू कर दी थी। उन्होंने एक पशु का उदाहरण देते हुए कहा कि अन्य लोग ज्यादा बच्चे पैदा करके लोकतंत्र के जरिए देश पर कब्जा करना चाहते हैं। अगर उनका इस देश पर कब्जा हो गया तो हिंदुओं के लिए यहां कुछ नहीं बचने वाला।

Advertisement

बोले…परिवार को बड़ा और मजबूत करें

वहीं उन्होंने कहा, मेरा हिंदुओं से अनुरोध है कि अपने परिवार की रक्षा का दायित्व लें, अपने परिवार को बड़ा और मजबूत करें। अगर अपने परिवार बड़े और मजबूत नहीं होंगे तो कुछ नहीं बचेगा। उन्होंने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी को लेकर भी विवादित बयान दिया।

‘मुझे मारने एएमयू से आते हैं आतंकी’

उन्होंने कहा कि मुझे मारने जितने भी आतंकवादी आते हैं वो सब अलीगढ़ विश्वविद्यालय से ही आते हैं। आपने अखबारों में भी पढ़ा होगा। यहां के पीएचडी होल्डर यहां के डॉक्टर, यहां के एमटेक तरह तरह के बम बनाते हैं। मुझे मारने जाते हैं। मैं तो सारे शासन से कहना चाहता हूं कि इस पर लगाम लगानी चाहिए। मेरा अपने लोगों से कहना है कि अगर हिंदू बचना चाहते हैं तो ऐसे संस्थान बंद करने पड़ेंगे वरना हिन्दुओं के बचने का कोई चांस नहीं होगा।

भेंट की गई कटार और गीता

इस धर्म सभा का आयोजन हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव महामंडलेश्वर अन्नपूर्णा भारती उर्फ डॉक्टर पूजा शकून पांडे ने किया। कार्यक्रम में युवतियों को गीता और कटार भेंट की गई। डासना देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती, बेसिक शिक्षा मंत्री संदीप सिंह, एमएलसी मानवेंद्र प्रताप सिंह, एमएलसी ऋषिपाल सिंह, सहित तमाम हिंदूवादी लोग मौजूद थे।

महिलाओं से की थी ये अपील

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए यति नरसिंहानंद सरस्वती ने कहा कि महिलाएं यदि अपने घर, राम मंदिर और अपने आप को बचाना चाहती हैं तो ज्यादा से ज्यादा बच्चे पैदा करें।

‘22 तारीख को मनाएंगे दीपावली सा उत्सव’

डासना मंदिर के महंत महामंडलेश्वर अन्नपूर्णा भारती ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि सनातन हिंदू सेवा संस्थान और मां बगलामुखी मंदिर के माध्यम से यह परंपरागत कार्यक्रम था। इस बार इसमें चार चांद इसलिए लग गए हैं क्योंकि जो सारा भारतवर्ष है वह राममय हो रहा है। 22 तारीख को हम दीपावली जैसा उत्सव मनाएंगे और श्री राम के आदर्शों पर चलते हुए एक फिर से राम राज्य की स्थापना करने के लिए अग्रसर हैं।

‘शास्त्रों का ज्ञान भी आवश्यक’

उन्होंने कहा, इस सनातन धर्म सभा के माध्यम से इस बार जो विषय दिया गया वह मातृशक्ति के सशक्तिकरण पर आधारित था। साथ-साथ युवा सनातनी बेटियों को जिहादियों से बचाने के लिए उनको किस तरह से प्रशिक्षित कर सकते हैं, इस पर भी जोर दिया गया। हम को लगता है कि टेक्निकल एजुकेशन के साथ-साथ शास्त्रों का ज्ञान देना भी आवश्यक है।

रिपोर्टः अर्जुन देव वार्ष्णेय, संवाददाता, अलीगढ़, उत्तरप्रदेश

यह भी पढ़ें: Meerut: मवाना में बदमाश की स्वाट टीम से हुई मुठभेड़, बदमाश की पसलियों में लगी गोली

Follow us on: https://twitter.com/HindiKhabar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *