उदयपुर हत्याकांड के आरोपियों को शिफ्ट किया अजमेर जेल

नई दिल्ली। राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैया लाल की निर्मम हत्या के मामले में अशोक गहलोत सरकार एक्शन में आ गई है. गहलोत सरकार ने उदयपुर के एसपी और आईजी को हटा दिया है. उधर, कन्हैयालाल की हत्या में शामिल दोनों आरोपियों को अजमेर जेल शिफ्ट कर दिया गया है।

राजस्थान सरकार ने उदयपुर के एसपी मनोज कुमार और आईजी हिंगलाज दान को हटा दिया है. राजस्थान सरकार ने दस जिलों के एसपी बदले हैं. अब विकास शर्मा उदयपुर के नए एसपी होंगे. इससे पहले राजस्थान सरकार ने लापरवाही के आरोप में उदयपुर के ASI को सस्पेंड कर दिया था. ASI भंवर लाल ने ही कन्हैयालाल की शिकायत पर समझौता कराया था. 

पुलिस पर लग रहा लापरवाही का आरोप

कन्हैया लाल की हत्या के मामले में पुलिस पर लापरवाही का आरोप लग रहा है. दरअसल, कन्हैया लाल ने पत्र लिखकर पुलिस को शिकायत दी थी कि उन्हें लगातार जान से मारने की धमकी मिल रही हैं. इतना ही नहीं उन्होंने पुलिस से सुरक्षा की मांग भी की थी. लेकिन पुलिस ने सुरक्षा देने के बजाय दोनों पक्षों में समझौता करा दिया. कन्हैया लाल के बेटों ने भी आरोप लगाया था कि पुलिस ने अगर समय रहते सख्त कार्रवाई की होती, तो उनके पिता जिंदा होते. इतना ही नहीं कानून व्यवस्था के मुद्दे पर बीजेपी भी लगातार गहलोत सरकार को घेर रही है।

अजमेर जेल शिफ्ट किए गए दोनों आरोपी

कन्हैया लाल की हत्या में शामिल दोनों आरोपी गौस मोहम्मद और रियाज को अजमेर जेल शिफ्ट कर दिया गया है. बताया जा रहा है कि खुफिया विभाग ने आशंका जताई थी कि दोनों की जिंदगी को खतरा हो सकता है. खुफिया विभाग ने ये चेतावनी कोर्ट में पेशी के बाद दी थी. इसके बाद दोनों आरोपियों को अजमेर की हाई सिक्योरिटी वाली जेल में शिफ्ट कर दिया गया।

28 जून को हुई थी हत्या

उदयपुर के धानमंडी थाना इलाके में मंगलवार दोपहर दो युवकों मोहम्मद रियाज और गौस मोहम्मद ने टेलर कन्हैयालाल की धारदार हथियार से हमला कर हत्या का दी थी. आरोपी कपड़े सिलवाने के बहाने दुकान पर आए थे. इसके बाद दोनों आरोपियों ने वीडियो शेयर कर कहा कि उन्होंने इस्लाम के अपमान का बदला लेने के लिए कन्हैयालाल की हत्या की है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.