मणिपुर के नोनी में लैंडस्लाइड से 14 लोगों की मौत, अबतक करीब 50 लोग लापता

इंफाल: मणिपुर में कल आर्मी कैंप के पास विनाशकारी लैंडस्लाइड हुआ। जिसमें आज यानी शुक्रवार को 4 और लोगों के शव को निकाला गया है। रिपोर्ट के अनुसार बुधवार और गुरुवार की मध्य रात्रि को मणिपुर के नोनी जिले के तुपुल रेलवे स्टेशन के नजदीक भारतीय सेना के 107 टेरिटोरियल आर्मी कैंप के पास ये लैंडस्लाइड हुआ था। यहां पर जिरीबाम से इंफाल के बीच रेलवे लाइन का निर्माण किया जा रहा है। बता दें ये सैनिक उसी की सुरक्षा के लिए तैनात थे। भूस्खलन के बाद से ही वहां पर तेजी से राहत और बचाव कार्य का काम चलाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र के नए CM पद के ऐलान के बाद एकनाथ शिंदे ने कही ये बड़ी बातें

रेस्कयू ऑपरेशन तेजी पर

मणिपुर में हुए दर्दनाक हादसे में अबतक 14 लोगों की मौत हो गई है। इसी के साथ 23 अन्य लोगों को फिलहाल सुरक्षित निकाला गया है। हालांकि अभी भी कई लोगों की दबे होने की आशंका जताई जा रही है। इसी के साथ भारतीय सेना की असम राइफल्स, टेरिटोरियल आर्मी के अलावा NDRF (एनडीआरएफ), SDRF (एसडीआरएफ) और अन्य कर्मचारी दिन-रात मलबा हटाने में लगे हुए है। मणिपुर में कई दिनों से हो रहे बारिश से जगह-जगह लैंडस्लाइड की खबरें सामने आ रही है। बता दें खराब मौसम के बावजूद रात में भी तलाशी और बचाव अभियान चलाया जा रहा है। डीजीपी पी. दोंगेल ने बताया कि मलबे में कितने लोग दबे हैं, इसका सही आंकड़ा फिलहाल पता नहीं चला है।  लेकिन उन्होंने करीब 60 लोगों के दबे होने की आशंका जताई है। जिसमें सैनिक, रेलवे कर्मचारी, ग्रामीण और मजदूर शामिल हैं।

राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने जताया दुख

मणिपुर में हुए दर्दनाक हादसे के बीच जिन लोगों के शव निकाले गए हैं, उनमें से 11 सैनिक हैं। हादसे पर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री आदि ने भी शोक जताया है। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर लिखा कि मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह से बात की और दुखद भूस्खलन से पैदा हुई स्थिति की समीक्षा की है। इसी के साथ उन्होंने लिखा की केंद्र से हरसंभव मदद का उन्हें आश्वासन दिया है। मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह ने खुद मौके पर जाकर हालात का जायजा लिया।

यह भी पढ़ें: एकनाथ शिंदे ने महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री पद की शपथ ली

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.