T20 WC: आलोचना से कैंसर तक, फिर विश्वचैंपियन तक, कुछ ऐसी है इन स्टार खिलाड़ियों की कहानी !

Mitchel Marsh on Left, Mathew Wade on Right

T-20 विश्वचैंपियन बना ऑस्ट्रेलिया

रविवार को हुए टी-20 विश्व कप फाइनल मुकाबले को जीतकर कंगारू टीम विश्वचैंपियन बन गई. बीते 6 साल से कोई बड़ा खिताब नहीं जीत पा रही ऑस्ट्रेलिया का टी-20 विश्वकप जीतने का सपना पूरा हो गया. ऑस्ट्रेलिया को विश्वचैंपियन बनाने में कई खिलाड़ी ऐसे हैं, जिन्होंने आलोचना से लेकर कैंसर जैसी घातक बीमारी को झेला है.

मिचेल मार्श ने दिया आलोचना का जवाब

बता दें कि फाइनल मुकाबले में हीरो रहे मिचेल मार्श काफी समय से आलोचना झेल रहे थे. मार्श करीब एक दशक से ऑस्ट्रेलिया की ओर से खेल रहे थे. लेकिन वह क्षमता के अनुकूल प्रदर्शन नहीं कर पा रहे थे. जिसको लेकर ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट प्रशंसकों के निशाने पर रहे है. लेकिन इस विश्वकप में मिचेल मार्श ने खुद को साबित किया और ऑस्ट्रेलिया को पहली बार टी-20 विश्वकप का खिताब दिलाया.

बता दे कि फाइनल मुकाबले में मार्श ने नाबाद 77 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली. जिसकी बदोलत कंगारू टीम विश्वचैंपियन बन गई. मार्श के अलावा सेमीफाइनल मुकाबले के हीरो रहे मैथ्यू वेड ने भी खुद को साबित किया है.

कैंसर से उभरकर स्टार बने मैथ्यू वेड

बीते कुछ समय से वेड का प्रदर्शन ठीक नहीं रहा. वह कैंसर जैसी घातक बीमारी से भी ग्रस्त हो चुके हैं और क्रिकेट फैंस की आलोचना को भी झेल रहे थे. लेकिन सेमीफाइनल से फाइनल का टिकट कटाने में वेड ने जबरदस्त तूफानी पारी खेली थी. सेमीफाइनल मुकाबले के 19वें ओवर में शाहीन अफरीदी को लगातार 3 छक्के लगाकर ऑस्ट्रेलिया को फाइनल तक पहुंचाया.

इतना ही नहीं, मैथ्यू वेड का जीवन कठिनाइयों से भरा रहा है. 16 साल की उम्र में वह टेस्टिकुलर कैंसर से भी ग्रस्त हो चुके है. इसके बाद कैंसर से जंग जीतकर वह क्रिकेट के मैदान में आए. इस खिलाड़ी ने एक चैंपियन बनने तक पलबंर और कारपेंटर का भी काम किया है. साल 2018 में खराब प्रदर्शन के कारण टीम से बाहर होने के बाद वेड ने घर में ही कारपेंटर का काम किया. इसके लिए इस स्टार ने कोर्स भी किया था.    

नितिन उपाध्याय, हिंदी ख़बर

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *