">
Advertisement

IND VS ENG: तीसरे टेस्ट मैच में खिलाड़ियों ने बांधी काली पट्टी, जानें इसके पीछे का क्या है कारण

IND VS ENG indian players wear black armband dattajirao-gaekwad-death-former-indian-captain- news in hindi
Share

IND VS ENG

Advertisement

भारत और इंग्लैंड ( IND VS ENG ) के बीच टेस्ट सीरीज का तीसरा मैच खेला जा रहा है।  इस मैच के तीसरे दिन का खेल शुरू हो गया है। राजकोट टेस्ट के दौरान भारतीय टीम को रविचंद्रन अश्विन के रूप में बड़ा झटका लगा है। अश्विन को मेडिकल इमरजेंसी के कारण पूरी सीरीज से बाहर होना पड़ा है। इस कड़ी में खबर सामने आ रही है कि राजकोट टेस्ट मैच के तीसरे दिन भारतीय खिलाड़ी अपने हाथ पर काली पट्टी बांधकर खेलने उतरे हैं। ऐसे में बड़ा सवाल है कि इस काली पट्टी के पीछे क्या राज है। चलिए हम आपको बताते हैं इसके पीछे का कारण।

Advertisement

यह भी पढ़े: Barabanki: सिरफिरे पति ने अपनी पत्नी का काटा गला, फिर हाथ में लेकर पहुंचा पुलिस चौकी

BCCI ने बताई वजह

अब इस काली पट्टी के पीछे बीसीसीआई ने कारण बताया है।  टीम इंडिया के खिलाड़ियों ने पूर्व भारतीय कप्तान और देश के सबसे उम्रदराज टेस्ट क्रिकेटर दत्ताजीराव गायकवाड़ की याद में काली पट्टी बांधी, जिनका मंगलवार 13 फरवरी को निधन हो गया था। 95 साल की उम्र में दत्ताजीराव का निधन हुआ। तीसरे टेस्ट मैच की शुरुआत में खिलाड़ियों ने हाथों पर काली पट्टी नहीं पहनी थी। जिसे लेकर BCCI और टीम इंडिया की काफी आलोचना हुई। वहीं तीसरे दिन पर इस गलती को सुधारते हुए खिलाड़ियों ने अपने हाथों में काली पट्टी बांध ली।

कैसा है मैच का हाल

मैच की जहां तक बात है तो पहली पारी में 445 रन का दमदार स्कोर खड़ा करने के बाद भारतीय टीम गेंदबाजी के दौरान बैकफुट पर आ गई. इंग्लैंड के ओपनर बेन डकेट ने धुआंधार बैटिंग करते हुए एक यादगार शतक जड़ दिया. उनके शतक के दम पर दूसरे दिन इंग्लैंड ने सिर्फ 2 विकेट खोकर तेजी से 202 रन बना लिए थे। टीम इंडिया के स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने अचानक फैमिली एमरजेंसी के कारण टीम से नाम वापस ले लिया और परिवार के पास चेन्नई चले गए। अब टीम इंडिया को 10 खिलाड़ियों के साथ इस मैच को खेलना होगा।

Hindi Khabar App: देश, राजनीति, टेक, बॉलीवुड, राष्ट्र, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल, ऑटो से जुड़ी ख़बरो को मोबाइल पर पढ़ने के लिए हमारे ऐप को प्ले स्टोर से डाउलोड कीजिए. हिन्दी ख़बर ऐप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *