केजरीवाल पर विश्वास का पलटवार, कहा- ‘खालिस्तान पर अपना रुख बताएं, नहीं तो मैं बता दूंगा’

Kumar Vishwas

आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता और कवि कुमार विश्वास ने शुक्रवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के स्पष्टीकरण वाले बयान का पलटवाकर करते हुए चुनौती दी है। उन्होंने कहा है कि केजरीवाल ख़ालिस्तान पर अपना रुख स्पष्ट करें

बता दें कि कुमार विश्वास ने हाल ही में आरोप लगाया था कि केजरीवाल पंजाब के पिछले विधानसभा चुनावों के दौरान पंजाब का मुख्यमंत्री बनने के लिए अलगाववादी तत्वों का समर्थन लेने के लिए तैयार थे।

समाचार एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में विश्वान ने ये कहा था, “एक दिन उन्होंने (केजरीवाल) मुझसे यह तक कहा था कि वह या तो पंजाब के मुख्यमंत्री बनेंगे या एक स्वतंत्र देश के पहले प्रधानमंत्री बनेंगे।”

इस बयान के सामने आते ही बीजेपी और कांग्रेस अरविंद केजरीवाल को घेर रही हैं।

यहां भी पढ़ें: राहुल ने सवाल किया, केजरीवाल जी, सीधा जवाब दो-कुमार विश्वास सच बोल रहे हैं या नहीं

राहुल गांधी ने ट्वीट करके सवाल किया है कि, “केजरीवाल जी, सीधा जवाब दो – कुमार विश्वास सच बोल रहे हैं? हाँ या ना?”

केजरीवाल की सफाई

इस पर अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि अगर वे देश को तोड़ने की बात कर रहे थे, तो अब तक सरकार की एजेंसियों ने उन्हें गिरफ़्तार क्यों नहीं किया।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस कवि का शुक्रिया, जिसने आतंकवादी पकड़ लिया. आपने ऐसा स्वीट आतंकवादी नहीं देखा होगा, जो सड़कें बनवाता है, अस्तपाल बनवाता है और फ़्री बिजली देता है।

कुमार विश्वास का पलटवार

इसके बाद कुमार विश्वास ने सवाल उठाया है कि, “आप देश को बताइए कि क्या पिछले चुनाव में आपके घर पर आतंकी संगठन से सहानूभूति रखने वाले लोग, बात कराने वाले लोग, आते थे या नहीं आते थे।”

एक घटना का ज़िक्र करते हुए विश्वास ने कहा कि, “जब मैंने इस पर आपत्ति उठाई थी तो पंजाब की बैठकों से मुझे बाहर कर दिया गया था या नहीं कर दिया गया था? मैंने एक बैठक रंगे हाथ पकड़ी थी। बाहर एक प्रहरी खड़ा था… बोला कि अंदर मीटिंग चल रही है।”

“मैंने उसको धक्का दिया… हरियाणा का प्रहरी था वो। मैंने उसे कहा कि साइड हटो। मैंने अंदर जाकर देखा तो वही लोग बैठे हुए थे। तो मैंने कहा कि किनके साथ मिल रहा है, तो बोले कि नहीं, नहीं, कुछ नहीं – इसका बड़ा फायदा होगा।”

इसके बाद उन्होंने केजरीवाल को चुनौती देते हुए कहा कि, “वो ये कह दें कि मैं ख़ालिस्तान के ख़िलाफ़ लड़ूंगा। वो ये कह दे कि मैं ख़ालिस्तानियों को पनपने नहीं दूंगा। मैं दिल्ली में नहीं पनपने दूंगा। न किसी अन्य राज्य में पनपने दूंगा।”

इसके साथ ही उन्होंने आगे कहा कि “वो ये बताएं कि ख़ालिस्तान के विरोध में उनका क्या बयान है, ये बताएं कि उनके घर पर लोग आए थे, आते थे या नहीं आते थे, नहीं तो मैं बता दूंगा।”

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.