Advertisement

राहुल के LS से अयोग्य होने के बाद, अब Wayanad में कब होंगे उपचुनाव?

Share
Advertisement

राहुल गांधी की लोकसभा सदस्यता खत्म होने के कारण, अब उनके हाथ से केरल की वायनाड सीट भी जा चुकी है। अब वहां फिर से कब चुनाव होंगे, ये एक बड़ा सवाल है। इस बीच आपको बता दें कि मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने बुधवार को कर्नाटक विधानसभा चुनाव के साथ-साथ पंजाब के एक संसदीय क्षेत्र और ओडिशा, उत्तर प्रदेश और मेघालय के चार विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव का ऐलान कर दिया है। प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले ये चर्चा थी कि राहुल गांधी की संसदीय सीट वायनाड में भी उपचुनाव का ऐलान किया जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

Advertisement

मुख्य चुनाव आयुक्त ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान वायनाड उपचुनाव के सवाल पर कहा कि किसी भी जगह उपचुनाव कराने से पहले 6 महीनें का वक्त दिया जाता है, कोई जल्देबाजी नहीं है। मामला अभी फास्ट ट्रैक कोर्ट में है और 30 दिनों का समय दिया गया है, इसलिए हम इंतजार करेंगे।

जानें किस मामले में दोषी है राहुल गांधी?

गौरतलब है कि राहुल गांधी ने साल 2019 में राष्ट्रीय चुनावों से पहले कर्नाटक के कोलार में एक रैली के दौरान कहा था कि सारे चोरों का सरनेम मोदी क्यों होता है? इसी बात पर गुजरात के पूर्व मंत्री पूर्णेश मोदी ने उनपर मानहानि का केस ठोक दिया। गुजरात की सूरत कोर्ट ने 2019 के मानहानि के एक मामले में राहुल गांधी को दोषी ठहराया और 2 साल की सजा सुनाई। सजा के ऐलान के बाद राहुल गांधी को दोहरा झटका लगा और उनकी संसद सदस्यता भी चली गई। इसी के बाद से वायनाड लोकसभा सीट खाली हो गई। ऐसे में कयास लगाए जा रहे थे कि मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के साथ वायनाड लोकसभा पर भी उप-चुनाव होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *