दिग्विजय सिंह भी कांग्रेस अध्यक्ष की दौड़ में, आलाकमान से हरी झंडी का इंतजार

कांग्रेस के अध्यक्ष चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज हो गई हैं। अध्यक्ष पद की कमान संभालने के लिए कांग्रेस में मानो रेस सी लगने लगी है। पद के लिए जो संभावित उम्मीदवारों के नाम सामने आए हुए हैं उनमें से सबसे पहला नाम है राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का हालांकि अशोक गहलोत को टक्कर देते हुए लोग शशि थरूर के नाम को भी आगे रख रहें हैं लेकिन इस बीच मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का भी नाम सामने आ रहा है हालांकि अभी तक ये केवल अटकलें हैं दिग्विजय सिंह कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ेंगे या नहीं? फिलहाल, यह साफ नहीं है, लेकिन उन्होंने संकेत दिए हैं कि आलाकमान के कहने पर वह मैदान में उतर सकते हैं। खबरें थी कि वे दिल्ली के अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर पार्टी के शीर्ष पद के लिए दावेदारी पेश कर सकते हैं।

फिलहाल अभी चुनाव मुख्य रूप से राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और शशि थरूर का नाम ही आगे चल रहा है। अध्यक्ष पद के चुनाव की अटकलों को लेकर दिग्विजय सिंह ने कहा कि अभी तक इसको लेकर कोई चर्चा नहीं हुई है। एक चैनल से बातचीत के दौरान दिग्विजय सिंह ने कहा कि ना चर्चा हुई है, न होगी और न मैंने समय मांगा है।’ दिल्ली दौरे को लेकर उन्होंने कहा कि वह भारत जोड़ो यात्रा से जुड़ी एक बैठक में शामिल होने के लिए दिल्ली पहुंचे हैं। चुनाव को लेकर दिग्विजय सिंह ने कहा कि नेतृत्व का जो भी आदेश होगा मैं हमेशा से उसका पालन करता आया हूं और करता रहूंगा।

तीन चीजों से कभी नहीं करूंगा समझौता-(दिग्विजय सिंह)

दिग्विजय सिंह ने कहा कि मैं तीन चीजों के लिए कभी भी समझौता नहीं करूंगा पहला एक गरीब, वंचित, दलित आदिवासी के मसलों पर मैं कभी किसी से समझौता नहीं करता, चाहे मेरी कुर्सी चली जाए। नंबर दो, मैं वो सारे धार्मिक उन्माद फैलाने वाले संगठन चाहे हिंदुओं के हों, चाहे मुसलमानों के हों, चाहे सिखों के हो या ईसाइयों के हों उनके साथ कभी समझौता नहीं करूंगा। तीसरा जिसपर मैं समझौता नहीं करूंगा, मेरी वफादारी नेहरू गांधी परिवार के प्रति और कांग्रेस के प्रति, इसपर मैं समझौता नहीं करूंगा।

दिग्विजय सिंह ने अपने नामांकन को लेकर दिए थे ये संकेत

हाल ही में दिग्विजय सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव नामांकन को लेकर कुछ संकेत दिए थे। सिंह ने कहा था कि सभी को चुनाव लड़ने का हक है मेरा जो भी फैसला होगा आपको 30 की शाम को पता लग जाएगा खास बात ये भी है कि इस दिन कांग्रेस अध्यक्ष पद के नामांकन भरने की अंतिम तारीख है। खबरें आईं थीं कि दिग्विजय सिंह ने कहा था कि गहलोत के दो पद के संभालने को लेकर विरोध किया था लेकिन अभ उन्होनें कहा कि वे भी गांधी परिवार की निष्ठा करते हैं। जबकि थरूर को लेकर उन्होनें कहा था कि ‘वह योग्य और बड़े अच्छे व्यक्ति हैं, मैं उनका सम्मान करता हूं।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.