‘महंगाई डायन खाए जात है’: जनता पर महंगे ईंधन की मार, राहुल-प्रियंका का केंद्र पर वार

नई दिल्ली: देश में आम जनता पर लगातार मंहगाई की मार पड़ रही है। सरकार किसी की भी हो, हमेशा जनता की जेब ढीली होती है। कहने को तो केंद्र में मोदी सरकार ने जनता के हित में कई अहम फैसले लिए हैं, दुनिया में देश की छवि मजबूत की, देश के दुश्मनों को मूंह तोड़ जवाब दिया। लेकिन एक चीज में मोदी सरकार फेल हो गई और वो है मंहगाई। मंहगाई से जितनी आम जनता परेशान है, उतना ही बड़ा मुद्दा ये राजनीतिक दलों के लिए भी है। यूं तो मोदी सरकार इस मुद्दे पर जनता द्वारा कटघरे में खड़ी रहती है, लेकिन विपक्षी दल भी इससे अपनी राजनीति चमकाते आ रहें हैं।

कांग्रेस का बीजेपी पर ‘मंहगाई’ वार

यूं तो विपक्षी दल लगातार मोदी सरकार के कार्यकाल, उनके फैसले और नीति पर सवाल खड़ा करता आया है। लेकिन, कांग्रेस नेता राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने देश में बढ़ती मंहगाई और पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों को लेकर फिर से मोदी सरकार को आड़े हाथों लिया है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने एक निजी अखबार का हवाला देते हुए लिखा,

“यह बेहद गंभीर मुद्दा है। चुनाव-वोट-राजनीति से पहले आती हैं जनता की साधारण ज़रूरतें जो आज पूरी नहीं हो पा रहीं हैं।”

राहुला गांधी इतने पर भी नहीं रुके, उन्होंने मोदी सरकार पर तंज कसते हुए आगे लिखा…

“मोदी मित्रों के फ़ायदे के लिए जिस जनता को धोखा दिया जा रहा है, मैं उस जनता के साथ हूँ और उनकी आवाज़ उठाता रहूँगा।”

प्रियंका गांधी भी बीजेपी पर हमलावर

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी पेट्रोल-डीज़ल के मुद्दे को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर ट्वीट कर कटाक्ष किया। प्रियंका गांधी ने एक खबर का हवाला देते हुए लिखा,

“वादा किया था कि हवाई चप्पल वाले हवाई जहाज से सफ]र करेंगे. लेकिन भाजपा सरकार ने पेट्रोल-डीज़ल के दाम इतने बढ़ा दिए कि अब हवाई चप्पल वालों और मध्यम वर्ग का सड़क पर सफ़र करना भी मुश्किल हो गया है।”

पेट्रोल-डीज़ल में मंहगाई की आग  

पिछले कई दिनों से लगभग हर दूसरे दिन पेट्रोल और डीजल के दामों में इजाफा हो रहा है। मौजूदा हाल ये हैं कि देश के कई राज्यों में लोग पेट्रोल और डीजल के लिए 100 रुपए से भी ज्यादा की कीमत चुका रहे हैं। ईंधन के बढ़ते दामों का असर सीधा लोगों की जेबों पर पड़ रहा है। रोजमर्रा में इस्तेमाल होने वाली चीजें भी बजट के बाहर होती हुई दिख रही हैं। CNG, LPG, PNG सभी गैसों की कीमते आसमान छू रही हैं।

अब सरकार कोई भी तर्क दे लेकिन सच्चाई ये है कि इस मंहगाई के दौर में अमीर वो नहीं जो मंहगे शौक रखे, बल्कि वो है जो दो वक्त की रोटी खरीद सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *