Omicron से कैसे करें बचाव और किन-किन खास बातों का रखें ख्याल…

ओमिक्रॉन के लक्षण

कोरोना वायरस (Corona Virus) का ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron Variant) लगातार चर्चा का विषय बना हुआ है। यह दिन-प्रतिदिन घातक साबित होता जा रहा है। भारत में अभी ओमिक्रॉन के कई मामले सामने आ चुके हैं। अधिकतर संक्रमित लोगों में बहुत ही सामान्य लक्षण देखने को मिला है। ऐसे में कोरोना के दूसरे वेरिएंट से ओमिक्रॉन के लक्षणों (omicron symptoms) को जानना बेहद जरूरी हो गया है। आइए जानते हैं उन खास लक्षण के बारे में जो सर्दी-जुखाम से मिलते-जुलते हैं।

ओमिक्रॉन के लक्षण

क्या सर्दी-खांसी और बहती नाक को भी मानना चाहिए कोरोना संक्रमित?

कोरोना वायरस का पिछले दो साल से पूरी दुनिया में कहर लगातार बरकरार है। डेल्टा के बाद अब ओमिक्रॉन वेरिएंट के कारण पूरी दुनिया में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। अमेरिका में तो एक दिन में कोरोना के 10 लाख मामले सामने आ रहे हैं। बीते 24 घंटों में भारत में लगभग 2 लाख कोरोना के नए केस सामने आए हैं। 

2020 की बात करें तो यह तभी स्पष्ट हो गया था कि कोरोना वायरस के मूल और अल्फा वेरिएंट के तीन बहुत ही सामान्य लक्षणों के अलावा कम से कम 20 अन्य लक्षण भी होते हैं। इनमें खांसी, बुखार और गंध की कमी के साथ ही थकान, सिरदर्द, सांस की तकलीफ, मांसपेशियों में दर्द, पेट संबंधी समस्याओँ के साथ-साथ त्वचा पर धब्बे जैसी अधिक असामान्य घटनाएं भी शामिल थीं।

सर्दियों के दिनों में फ्लू हो जाना आम बात है। लेकिन वर्तमान में ओमिक्रॉन का संक्रमण सामान्य सर्दी के जैसा ही है। इसका मतलब है कि केवल लक्षणों (omicron symptoms) के आधार पर यह तय करना संभव नहीं है कि आपको क्या है? गले में खराश, बहती नाक या असामान्य थकान को तब तक कोविड माना जाना चाहिए जब तक कि आपका जाँच न हो जाए। इसलिए यदि आप या परिवार का कोई सदस्य अस्वस्थ महसूस कर रहा है, तो मुमकिन है कि यह कोविड हो, खासकर यदि आप बहुत अधिक छींक रहे हैं और आपकी नाक बह रही हो। सुनिश्चित करने के लिए आपको घर पर रहना चाहिए और जाँच करवाना चाहिए।

त्वचा पर हैं पित्तयों के निशान, तो कराएं तुरंत जाँच

पित्ती कई अलग प्रकार और आकारों में हो सकती है। लेकिन इस हालत में त्वचा पर आमतौर पर उभरे हुए धब्बे और लाल धब्बे दिखाई देते हैं। यह शरीर पर कहीं भी हो सकते हैं। इस तरह के चकत्ते में अक्सर खुजली होती है और कभी-कभी चुभने वाली सनसनी पैदा हो सकती है। यह आमतौर पर कुछ मिनटों से लेकर कुछ दिनों में ठीक हो जाता है।

ओमिक्रॉन संक्रमण से बचने का तरीका

आपको कोविड हो या ना हो, यदि आप सर्दी जैसे लक्षणों के साथ बीमार महसूस कर रहे हैं तो अन्य लोगों के संपर्क में आने से बचने के लिए, घर पर रहे और तुरंत अपना कोविड जाँच कराएं। अधिक आवश्यकता पड़ने पर ही घरों से बाहर निकलें और चेहरे पर मास्क हमेशा पहने रखें। यदि आपने कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाई है तो तुरंत वैक्सीन लगवाएं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। इसके साथ ही समय-समय पर सैनिटाइजर का इस्तेमाल भी करें। इससे कोरोना से बचाव में मदद मिलेगी। सतर्क रहें, स्वस्थ रहें।

यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इस जानकारी को अपने दोस्तों और जानने वालों के साथ भी शेयर करें ताकि ऐसे कठिन समय में उनकी मदद हो सके। देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों के लिए हिंदी खबर के होमपेज को विजिट करें।

Share Via

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *