Advertisement

सुप्रीम कोर्ट 13 दिसंबर को बलात्कार के दोषियों की जल्द रिहाई को चुनौती देने वाली बिलकिस बानो की याचिका पर करेगा सुनवाई

Share
Advertisement

सुप्रीम कोर्ट 13 दिसंबर को बलात्कार और हत्या के अपराध के लिए दोषी ठहराए गए 11 पुरुषों की जल्द रिहाई को चुनौती देने वाली बिलकिस बानो द्वारा दायर एक रिट याचिका पर सुनवाई करेगा।

Advertisement

जस्टिस अजय रस्तोगी और जस्टिस बेला त्रिवेदी की खंडपीठ इस मामले की सुनवाई करेगी। बिल्किस की ओर से पेश अधिवक्ता शोभा गुप्ता ने 30 नवंबर को भारत के मुख्य न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष याचिका का उल्लेख किया था।

अपनी याचिका में बिलकिस ने कहा कि उन्होंने राज्य सरकार से सभी दोषियों की समय से पहले रिहाई से संबंधित कागजात या पूरी फाइल का अनुरोध किया, लेकिन रिमाइंडर के बावजूद राज्य सरकार की ओर से कुछ भी नहीं आया।

बिलकिस ने कहा कि अपराध की शिकार होने के बावजूद, उन्हें छूट या समय से पहले रिहाई की ऐसी किसी प्रक्रिया के बारे में कोई जानकारी नहीं थी।

याचिका में गुजरात के छूट आदेश को लगातार निर्धारित कानून की आवश्यकता की पूरी तरह से अनदेखी करते हुए छूट का एक यांत्रिक आदेश कहा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *