Advertisement

एथिक्स कमेटी की बैठक में हंगामा, विपक्षी सांसदों ने किया वॉकआउट

Share
Advertisement

New Delhi: टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा पर प्रश्न के बदले रिश्वत लेने के आरोप के मामले में गुरुवार को एथिक्स कमेटी की बैठक आयोजित हुई। इस बैठक में जमकर हंगामा हुआ और विपक्षी सांसदों ने वॉकआउट कर दिया। सांसद महुआ मोइत्रा भी इस बैठक से बाहर आ गईं।

Advertisement

बैठक में क्यों हुआ हंगामा?

महुआ मोइत्रा समेत अन्य विपक्षी सांसदों ने आरोप लगाया कि चेयरमैन और भाजपा सांसद विनोद कुमार सोनकर अनैतिक प्रश्न पूछे रहे थे। इसी कारण से बैठक के दौरान हंगामा हो गया।

एथिक्स कमेटी में महुआ मोइत्रा लगातार दोहरा रहीं थी कि यह पूरा मामला उनका निजी है। इसको लेकर एथिक्स कमेटी में चर्चा की आवश्यकता नहीं है। महुआ ने सवाल उठाते हुए पूछा कि निजी तौर पर उनको उनके किसी दोस्त से उपहार मिलता है तो यह मामला एथिक्स कमेटी के सामने कैसे लाया जा सकता है?

निशिकांत दुबे ने लगाया था आरोप

भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने हाल ही में आरोप लगाया था कि महुआ मोइत्रा ने लोकसभा में प्रश्न करने के लिए कारोबारी हीरानंदानी से रिश्वत लिए हैं। उन्होंने लोकसभा स्पीकर ओम बिरला को लिखे पत्र में दावा किया था कि महुआ मोइत्रा के हाल के दिनों में 61 में से 50 प्रश्न अडानी ग्रुप से जुड़े हुए थे।

हीरानंदानी ने अपने एफिडेविट में क्या कहा था?

भाजपा सांसद निशिकांत दुबे के आरोप के बाद कारोबारी दर्शन हीरानंदानी का एक साइन किया हुआ एफिडेविट सामने आया था। जिसमें कारोबारी हीरानंदानी ने दावा किया था कि महुआ मोइत्रा ने अडानी ग्रुप के मामले में प्रधानमंत्री मोदी की छवि खराब करने के लिए रिश्वत लिए। महुआ मोइत्रा को कई उपहार भी दिए।

यह भी पढ़े : संसद एथिक्स कमेटी में हंगामा, Moitra समेत विपक्षी सांसदों ने किया वॉकआउट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *