पीएम नरेंद्र मोदी ने ‘मिशन लाइफ’ का किया शुभारंभ, दुनिया के बड़े नेताओं ने भेजे संदेश

Share

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के अनुसार, मिशन लाइफ को भारत के नेतृत्व वाला वैश्विक जन आंदोलन होने की उम्मीद है जो पर्यावरण की रक्षा और संरक्षण के लिए व्यक्तिगत और सामूहिक कार्रवाई को प्रेरित करेगा।

मिशन लाइफ नरेंद्र मोदी
Share

Mission Life : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने गुजरात के एकता नगर में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी में ‘मिशन लाइफ’ (पर्यावरण के लिए जीवन शैली) का शुभारंभ किया।

पीएम मोदी ने केवड़िया में ‘मिशन लाइफ’ के शुभारंभ पर कहा, “जलवायु परिवर्तन का मुद्दा हर जगह देखा जा रहा है। हमारे ग्लेशियर पिघल रहे हैं, नदियां सूख रही हैं। मिशन लाइफ जलवायु संकट से लड़ने में मदद करेगा।”

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने अपने संबोधन में महात्मा गांधी के हवाले से कहा, “दुनिया में हर किसी की जरूरतों को पूरा करने के लिए पर्याप्त है लेकिन लालच नहीं … दुर्भाग्य से हाल के दिनों में लालच जरूरत पर हावी हो गया है और हमें इसे उलटने की जरूरत है।”

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन, यूनाइटेड किंगडम की प्रधानमंत्री लिज़ ट्रस, जॉर्जिया के पीएम इराकली गैरीबाशविली, एस्टोनिया के पीएम काजा कैलास और मेडागास्कर के राष्ट्रपति राजोएलिना सहित कई विश्व नेताओं ने वैश्विक लॉन्च के लिए वीडियो संदेश भेजे।

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के अनुसार, मिशन लाइफ को भारत के नेतृत्व वाला वैश्विक जन आंदोलन होने की उम्मीद है जो पर्यावरण की रक्षा और संरक्षण के लिए व्यक्तिगत और सामूहिक कार्रवाई को प्रेरित करेगा।

पीएमओ द्वारा जारी बयान के अनुसार “मिशन लाइफ का उद्देश्य संपोषणीयता के प्रति हमारे सामूहिक दृष्टिकोण को बदलने के लिए त्रि-आयामी रणनीति का पालन करना है। पहला व्यक्तियों को अपने दैनिक जीवन (मांग) में सरल लेकिन प्रभावी पर्यावरण-अनुकूल कार्यों का अभ्यास करने के लिए प्रेरित करना है; दूसरा उद्योगों और बाजारों को प्रतिक्रिया देने में सक्षम बनाना है। तीसरा, तेजी से बदलती मांग (आपूर्ति) के लिए और तीसरा सरकार और औद्योगिक नीति को स्थायी खपत और उत्पादन (नीति) दोनों का समर्थन करने के लिए प्रभावित करना है।

प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को अपने दो दिवसीय गुजरात दौरे की शुरुआत राजकोट में रोड शो के साथ की। उन्होंने डिफेंस एक्सपो 2022 के उद्घाटन समारोह में गुजरात के दीसा में एक नए IAF बेस की आधारशिला रखी।

आज प्रधानमंत्री विदेश मंत्रालय द्वारा मिशन प्रमुखों के 10वें सम्मेलन में भाग लेंगे। पीएमओ के अनुसार, सम्मेलन दुनिया भर से भारतीय मिशनों के 118 प्रमुखों (राजदूतों और उच्चायुक्तों) को एक साथ लाएगा।

पीएमओ ने कहा, “तीन दिनों में फैले अपने 23 सत्रों के माध्यम से, सम्मेलन समकालीन भू-राजनीतिक और भू-आर्थिक वातावरण, कनेक्टिविटी, भारत की विदेश नीति प्राथमिकताओं आदि जैसे मुद्दों पर विस्तृत आंतरिक चर्चा करने का अवसर प्रदान करेगा।”

बाद में दिन में, पीएम मोदी व्यारा, तापी में 1970 करोड़ रुपये से अधिक की कई विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे। वह सापुतारा से स्टैच्यू ऑफ यूनिटी तक की सड़क के सुधार के साथ ही लापता कड़ियों के निर्माण का शिलान्यास करेंगे।

पीएमओ के बयान में उल्लेख किया गया है कि जिन अन्य परियोजनाओं की आधारशिला रखी जाएगी उनमें तापी और नर्मदा जिलों में 300 करोड़ रुपये से अधिक की जलापूर्ति परियोजनाएं शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *