Farmer Protest: कल करीब 200 किसानों का जंतर-मंतर पर प्रदर्शन, प्रशासन सख्त

kisan

नई दिल्ली। पिछले काफी दिनों से केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन कर रहे हैं। इस बीच किसानों ने दिल्ली में प्रदर्शन करने की इजाजत मांगी थी। मामले में बुधवार को हुई बैठक में यह तय किया गया कि 200 किसान बस से कल जंतर मंतर पहुंचेंगे। इस बीच पुलिस की गाड़ी उनके आगे चलेगी। जंतर-मंतर पर पहुंचकर किसान सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक अपनी किसान पार्लियामेंट लगाएंगे उसके बाद वे वापस जाएंगे। किसानों के प्रदर्शन के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने जंतर मंतर और उसके आसपास के इलाकों में सुरक्षा और कड़ी कर दी है।

किसान सुबह पहुंचेंगे जंतर-मंतर

एक बार फिर किसानों ने अपने शांतिपूर्ण प्रदर्शन की बात की है। इस मामले में दिल्ली पुलिस और किसानों के बीच सहमति बन गई है। दिल्ली पुलिस के सूत्रों के अनुसार करीब 200 किसान गुरुवार को बसों के जरिए जंतर-मंतर पहुंचेंगे और शांतिपूर्ण तरीके से अपना प्रदर्शन करेंगे। किसानों की सुरक्षा के लिए पुलिस और अर्धसैनिक बलों की 5 कंपनियां यहां तैनात की जाएंगी। उन सभी के पहचान पत्र चेक करने के बाद ही बैरिकेड के अंदर उन्हें जाने दिया जाएगा। शाम 5 बजे किसान अपना प्रदर्शन खत्म कर सिंघु बॉर्डर वापस लौट जाएंगे। हालांकि दिल्ली पुलिस ने आधिकारिक तौर पर प्रदर्शन के लिए परमिशन को लेकर अब तक कुछ कहा नहीं है।

सूत्रों की अगर मानें तो, दिल्ली पुलिस ने किसानों के सामने कई शर्तें रखी हैं। हालांकि किसानों ने अब तक इन शर्तों को मंजूर नहीं किया है। और न ही दिल्ली पुलिस को कोई जवाब दिया है।

प्रशासन पूरी तरह सख्त

वहीं दिल्ली पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि सिंघु बार्डर पर सुरक्षा व्यवस्था सख्त कर दी गई है। यहां पर 2500 दिल्ली पुलिस और 3000 पैरामिलिट्री के जवानों को तैनात कर दिया गया हैं। इसके अलावा यहां पर दंगा नियंत्रण वाहन, वाटर कैनन, टीयर गैस के साथ कई जवान तैनात कर दिए गए हैं। दिल्ली पुलिस का कहना है कि वे किसी भी तरह से फिर 26 जनवरी जैसे हालात पैदा नहीं होने देना चाहते है। किसी भी तरह से शांति व्यवस्था और सौहार्द को नहीं बिगड़ने देना चाहते है। साथ ही दिल्ली पुलिस सभी सीमाओं पर ड्रोन के जरिए भी नजर रख रही है जिससे कोई भी संदिग्ध दिल्ली में घुसकर किसी घटना को अंजाम न दे सकें।

इधर, सिंघु बॉर्डर पहुंचकर INLD नेता और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला ने कहा है कि वह कल संसद का घेराव करेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि वह कल दिल्ली में धरना देंगे और साथ मिलकर संसद में जाएंगे और इस काले कानून का विरोध करेंगे। ऐसे हालात पैदा कर देंगे कि सरकार को मजबूर होकर इस कानून को वापस लेना होगा।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.