भारत ने इन संघर्षों के बाद हासिल की आजादी, जानें 75 साल के आजाद होने की पूरी कहानी

1947 में भारत आजाद हुआ एक लंबे संघर्ष के बाद आज भारत अपना सुनहरा भविष्य देख पा रहा है। वहीं जब सारी दुनिया के लोग सो रहें होगें तब भारत एक नई उमंग और जोश के साथ आजादी के महोत्सव में रंगा हुआ होगा। आज से 75 साल पहले 15 अगस्त 1947 के जब देश आजाद हुआ लेकिन ये आजादी हमें यूंही नहीं मिली उस समय ब्रिटिश इंडिया भारत और पाकिस्तान नाम दो देशों में बंट गाया था इसमें केवल सरहदें ही नहीं बंटी बल्कि एक सांप्रदायिक रेखा भी खिंच गई थी।

1947 में मिला पहला वोट अधिकार

आजाद होने के बाद भारत को पहली बार वोट देने का अधिकार मिला। संविधान के इस बड़े बदलाव से भारत एक नई तस्वीर लिख रहा है। 1951 में भारत में पहली बार चुनाव हुआ। वहीं 1948 में महाराजा हरि सिंह के द्वारा भारत में विलय पत्र की सहमति और दस्तख़त के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध की समाप्ति हुई और कश्मीर भारत के हिस्से में शामिल हो गया।

26 जनवरी 1950 को भारत गणतंत्र बना

26 नवंबर 1949 को जब संविधान पारित किया गया और उसके बाद 26 जनवरी 1950 को संविधान प्रभावी होने के बाद भारत गणतंत्र देश बन गया। इसके बाद 1951 में पहली बार भारत में रेल नेटवर्क को शुरू किया और इसको 3 जोन में बांट के देश को थोड़ी उन्नति के लिए अग्रसर किया और आज भारत रेलवे की दुनिया में सबसे बड़ा नेटवर्क है।

1951 के आम चुनाव में देश को मिले थे पहले प्रधानमंत्री

1951 में भारत में आम चुनाव का आयोजन हुआ जिसमें कांग्रेस ने 489 सीटों में से 364 सीट की जीत हासिल करके जवाहरलाल नेहरू को देश के पहले प्रधानमंत्री के रूप में देखा गया। इसके बाद 1951 में ही भारत में Asian Games का आयोजन दिल्ली में किया गया।

1953 में हुआ Air India का राष्ट्रीयकरण

1953 में भारत में Tata द्वारा Air India का राष्ट्रीयकरण हुआ। इसके बाद 1 जुलाई 1955 को भारत सरकार ने State Bank of Museum का राष्ट्रीयकरण किया। सन् 1956 में भारत ने एशिया का पहला न्यूक्लियर रिएक्टर ‘अप्सरा’ का निर्माण किया।  इसके बाद अब तक भारत कई अनगिनत उपलब्धियों को को हासिल कर चुका है और आने वाले समय में भी कई उंचाइयों को छूता रहेगा।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *