जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ जिले में बादल फटने से बाढ़ जैसी हालात, अब तक 4 शव बरामद

नई दिल्ली: केन्‍द्रशासित प्रदेश (Union territories) जम्‍मू कश्‍मीर (Jammu and Kashmir) में किश्‍तवाड जिले (Kishtwar district) के डकचान इलाके (Dakchan area) में होंजार की आवासीय कॉलोनी (Honjar Colony) में आज सुबह बादल फटने की घटना समने आई है। जिसके चलते बाढ जैसी स्थिति उत्‍पन्‍न हो गई हैं। इस दौरान हादसे में चार लोगों की मौत हो गई है जबकि तीस से चालीस लोगों के फंसे होने की संभावना है। सूत्रों के मुताबिक, चार लोगों के शव बरामद कर लिए गए हैं। भारी बारिश के कारण लापता लोगों की तलाश में बाधा आ रही है। इस बीच किश्तवाड़ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शफकत हुसैन (Shafqat Hussain) ने कहा कि स्थानीय निवासियों ने बताया है कि 30 से 40 लोगों के बाढ़ में फंसे होने की आशंका है।

बता दें कि स्थिति की गंभीरता को देखते हुए फंसे लोगों की सही संख्या का अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है। मौके पर पुलिस, सेना और राज्‍य आपदा मोचन बल की टीमों ने इलाके में पहुंचकर बचाव कार्य शुरू कर दिया है। इसी बिच गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने उपराज्‍यपाल मनोजसिन्‍हा (Lieutenant Governor Manoj Sinha) और पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह (Director General of Police Dilbag Singh) से बातचीत कर बादल फटने की घटना की जानकारी ली है। श्री अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि अधिक से अधिक लोगों की जान बचाना पहली प्राथमिकता है। फिर उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की टीमें भी बचाव अभियान में मदद के लिए इलाके में पहुंच रही हैं.

जिला अधिकारी ने बताया मलबे से चार शव निकालें

जानकारी के मुताबिक केन्‍द्रीय विज्ञान और प्रोद्योगिकी (Central Science and Technology) राज्‍य मंत्री जितेन्‍द्र सिंह (Jitendra Singh) ने बताया कि उन्‍होंने किश्‍तवाड (kishtwar) के जिला अधिकारी अशोक शर्मा (Ashok Sharma) से फोन पर बात की है और विश्‍वास दिलाते हुए कहा है कि जरूरत पडने पर घायलों को निकालने के लिए वायुसेना से संपर्क किया गया है। किश्‍तवाड के जिला अधिकारी ने बताया है कि मलबे से चार शव बरामद किए गए हैं। बाढ़ से आठ-नौ घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं। मौसम विभाग (weather department) ने आने वाले दिनों में और बारिश की संभावना जताई है।

Share Via

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *