दलबदल से कितना नुकसान होगा बीजेपी को, जानिए जनता का ताजा मूड क्या है

स्वामी प्रसाद मौर्य

UP Election Opinion Poll: उत्तर प्रदेश में हाल के दिनों में एक बड़ा उलटफेर हुआ है। पूर्व बीजेपी नेता और अब सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने पहले योगी कैबिनेट से इस्तीफा दिया और फिर सपा में शामिल होकर तहलका मचा दिया। राज्य में पहले फेज के चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को करारा झटका दे दिया है।

बीते दिनों में कई बड़े ओबीसी नेता ने बीजेपी का साथ छोड़ दिया है। बड़ी संख्या में विधायक और मंत्री बीजेपी से खुद को अलग कर सपा में शामिल हो गए। लेकिन ऐसे में सवाल यह है कि इससे बीजेपी को कितना नुकसान होगा? क्या वाकई स्वामी प्रसाद मौर्य के सपा को ज्वाइन करने से बीजेपी का वोट बैंक खिसकेगा?

इस उलटफेर के बाद ज्यादा फर्क तो नहीं नजर आ रहा है लेकिन यह जरूर तय होता दिख रहा है कि स्वामी प्रसाद के सपा में जाने से सपा को कुछ हद तक फायदा जरूर होगा। टाइम्स नाउ, नवभारत की ओर से किए गए साप्ताहिक सर्वे में बताया गया है कि पिछले सप्ताह के मुकाबले बीजेपी को कुछ नुकसान और सपा को कुछ फायदा होता दिख रहा है।

क्या है सर्वे का नतीजा?

सर्वे के नतीजे के अनुसार, इस दलबदल के साथ ही 403 सीटों वाली यूपी विधानसभा में बीजेपी को 219 से 245 सीटें मिल सकती हैं। इस हिसाब से भारतीय जनता पार्टी आसानी से बहुमत हासिल करती दिख रही है। लेकिन सपा को भी 143 से 154 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है। बसपा को 8-14 सीटें मिल सकती हैं तो कांग्रेस के लिए भी 8-14 सीटों की भविष्यवाणी की गई है।

बीजेपी को छोड़ने का सिलसिला नेताओं द्वारा अभी भी जारी है। सर्वे में बताया गया है कि पिछले सप्ताह के मुकाबले, भाजपा और सपा के वोट शेयर में जो फासला था, वह कम हो गया है। यह फासला अब मात्र 2 फीसदी का ही रह गया है। ऐसे में राज्य में यदि अभी चुनाव होते हैं तो कुछ भी उलटफेर हो सकता है।

वोट प्रतिशत के हिसाब से देखें तो बीजेपी को 37.2 प्रतिशत, समाजवादी पार्टी को 35.1 प्रतिशत, बहुजन समाज पार्टी को 12.1 प्रतिशत तो वहीं कांग्रेस को 9.7 प्रतिशत वोट मिलने की उम्मीद है।

हिंदी खबर के सर्वे में भी यह बात सामने आई है कि इस दलबदल से योगी सरकार को नुकसान हो सकता है। हिंदी खबर के सर्वे में जब पूछा गया कि क्या यूपी में बीजेपी नेता स्वामी प्रसाद मौर्य के सपा में जाने से बीजेपी को नुकसान होगा? इसके जवाब में 90 फीसदी लोगों ने हां में जवाब दिया है। मात्र 4 फीसदी लोगों ने कहा है कि इससे ज्यादा असर नहीं पड़ेगा। योगी के नाम पर वोट मिलने को लेकर मात्र 3 फीसदी लोगों ने हां में जवाब दिया है। वहीं 3 प्रतिशत लोगों ने कहा है कि इससे बीजेपी को कोई नुकसान नहीं होगा।

Share Via

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *