रोहिणी कोर्ट में दिनदहाड़े फायरिंग, गैंगस्टर जीतेंद्र गोगी की मौत, पुलिस ने भी वकील बनकर आए तीन हमलावरों को मार गिराया

दिल्ली। राजधानी दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में आज दिनदहाड़े ताबड़तोड़ फायरिंग हो गई, जिसके बाद कोर्ट में हड़कंप मच गया। इस फायरिंग में पेशी के लिए ले जाए जा रहे गैंगस्टर जितेंद्र गोगी की मौत हो गई। इसके अलावा अन्य तीन-चार लोग भी घायल हो गए। मिली जानकारी के मुताबिक हमलावर वकील बनकर आए थे। यह हमला तीन बदमाशों द्वारा किया गया था, जो वकील के वेश में आए थे। हमला होने के बाद पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की, जिसमें तीनों बदमाश ढेर हो गए।

वकील की ड्रेस में होने के कारण हमलावरों को आसानी से मिली एंट्री

वैसे तो देश के सभी कोर्ट में भारी सुरक्षा रहती है, लेकिन रोहिणी में सुरक्षा व्यवस्था काफी अच्छी होने के बावजूद वारदात हो गई। कहा जाता है कि इस कोर्ट के परिसर में तो भारी सुरक्षा व्यवस्था रहती ही है, इसके अलावा गेट पर ही सबकी चेकिंग भी की जाती है। लेकिन हमलावर वकील की ड्रेस में आए थे, जिसकी वजह से उन्हें आसानी से एंट्री मिल गई। लेकिन सवाल ये भी है कि कड़ी सुरक्षा व्यवस्था और चेकिंग के बावजूद बदमाश हथियार भीतर कैसे ले जा सके?

मारे गए हमलावरों में एक 50,000 का इनामी भी था शामिल

हमले के बाद दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने बताया कि “जब गैंगस्टर गोगी को कोर्ट में सुनवाई के लिए ले जाया गया तो दो अपराधियों ने उस पर गोलियां चलाईं। पुलिस ने जवाबी कार्रवाई में दोनों हमलावरों को मार गिराया। उनमें से एक हमलावर पर 50,000 रुपये का इनाम था”

कौन है जितेंद्र गोगी?

जितेंद्र मान उर्फ़ गोगी अलीपुर दिल्ली का रहने वाला है, जिसके ऊपर हत्या, लूटपाट, जमीन कब्जाने जैसे मामले दर्ज़ हैं। वह जेल की सलाखों के पीछे बैठ कर सफलतापूर्वक अपना गैंग चला रहा था। गोगी को 2016 में गिरफ्तार कर लिया गया था, बड़ी चालाकी से तीन महीने में ही वह जेल से फरार हो गया था। पुलिस ने इस दौरान उस पर चार लाख का इनाम भी रखा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *