हमारा लक्ष्य वर्ष 2025 तक प्रदेश में 65 लाख हेक्टेयर भूमि पर सिंचाई की व्यवस्था हो: CM शिवराज

मध्यप्रदेश: मुख्यमंत्री @ChouhanShivraj ने “मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना” के तहत प्रदेश के 77 लाख किसानों के खातों में 1540 करोड़ रूपये की राशि सिंगल क्लिक के माध्यम से अंतरित की।  इस दौरान CM ने कहा कि भगवान के बाद अगर मेरे लिए कोई श्रद्धा का केंद्र है तो वह मेरे किसान हैं। अगर मैं कहूं कि सही अर्थों में आप अन्नदाता भी हैं और प्रदेश के भाग्य विधाता भी हैं तो अतिश्योक्ति नहीं होगी।

कृषकों के कारण आज देश के अन्न भंडार भरे हुए हैं : CM

CM बोले पहले सब तरह के अन्न की कुल पैदावार 2 करोड़ मीट्रिक टन थी। अब 6 करोड़ मीट्रिक टन उत्पादन हो रहा है। जो कृषि विकास की दर कभी डेढ़ दो प्रतिशत हुआ करती थी वह बढ़कर 18 प्रतिशत हो गई। 7 बार मध्यप्रदेश को कृषि कर्मण अवार्ड मिला। इसमें सबसे बड़ा योगदान सिंचाई की योजनाओं का योगदान है। हमने पाइप लाइन के जरिये नदियों से खेतों तक पानी पहुंचाने का कार्य किया है। नर्मदा मैया को क्षिप्रा मैया, गंभीर नदी, कालीसिंध नदी, पार्वदी नदी से जोड़ा। हमने जगह-जगह सिंचाई की योजनाओं का जाल बिछाकर सिंचाई की क्षमता बढ़ाकर 42 लाख हेक्टेयर कर दी।

आगे उन्होनें कहा कि हमारा लक्ष्य वर्ष 2025 तक प्रदेश में 65 लाख हेक्टेयर भूमि पर सिंचाई की व्यवस्था हो। इसके लिए हम पानी की आधुनिक तकनीक से व्यवस्था करेंगे, साथ ही पुराने तालाबों, बावड़ी और अन्य जल स्रोतों को भी जिंदा करेंगे। हमने तय किया कि किसान को सस्ती बिजली मिले। इसलिए मध्यप्रदेश सरकार लगभग 21 हजार करोड़ रुपये की बिजली सब्सिडी प्रदान कर रही है। मैं अपने किसान भाइयों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि बढ़ती कीमतों और लागत के बावजूद सिंचाई के लिए बिजली की कमी नहीं आने दी जाएगी।

Share Via

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *