क्या शिवपाल और आजम खान मिलकर नई पार्टी बनाएंगे? या फिर…

राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष जयंत चौधरी ने बुधवार को रामपुर जाकर आजम खान (AZAM Khan)परिवार से मुलाकात की थी। इस दौरान जयंत ने आजम खान के परिवार से अपना परिवारिक रिश्ता बताया था।

Share This News
आजम खान

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद से ही समाजवादी पार्टी में उथल-पुथल और पार्टी में अंदरूनी कलह बढ़ती जा रही है। जेल में दो साल से बंद सपा विधायक आजम खान से मिलने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल यादव सीतापुर जेल पहुंचकर सपा के वरिष्ठ नेता आजम खान से मुलाकात की है. यह मुलाकात ऐसे वक्ते में हुई जब शिवपाल ने बगावती रुख अपना रखा है जबकि आजम खान के समर्थक अखिलेश पर अनदेखी का आरोप लगा रहे हैं. इस मुलाकात को लेकर कई तरह की अटकलें हैं.

क्या आजम और शिवपाल मिलकर नई पार्टी बनाएंगे?
शिवपाल यादव ने भले ही सपा के टिकट से चुनाव लड़ा है लेकिन उन्होंने अभी तक अपनी पार्टी प्रसपा को भंग नहीं किया है. दूसरी ओर बीजेपी लहर में भी आजम खान ने जेल में रहते हुए शानदार जीत दर्ज की है और उनके प्रभाव क्षेत्र में आने वाली सीटों पर सपा ने प्रदर्शन किया है. लेकिन चुनाव के बाद आजम खेमे के कुछ समर्थकों ने आरोप लगाया है कि अखिलेश यादव मुसलमानों की अनदेखी कर रहे हैं जबकि सबसे ज्यादा वोट मुस्लिमों ने ही दिए हैं. साथ ही उनका कहना है कि अखिलेश एक बार भी आजम खान जैसे वरिष्ठ नेता से मिलने गए हैं. आजम खान के समर्थकों में जिस तरह की बेचैनी है उससे साफ है कि सब कुछ इस पाले में भी ठीक नहीं है. ऐसे में चर्चा ये भी है कि क्या दोनों नेता एक होकर अखिलेश को अपनी ताकत का अहसास कराएंगे.

क्या बीजेपी में जाएंगे शिवपाल?
दूसरी ओर अटकले हैं कि कि शिवपाल यादव बीजेपी से संपर्क में हैं. यह बात अखिलेश यादव ने भी इशारों-इशारों में कही है. इस पर शिवपाल ने कहा कि अखिलेश को लगता है तो वो पार्टी से निकाल सकते हैं. हालांकि बीजेपी में जाने के सवाल पर शिवपाल ने कुछ भी साफ नहीं कहा है. चुनाव के बाद सीएम योगी से मुलाकात और जिस तरह से बीजेपी उन पर मेहरबान है उसके कई संकेत मिल रहे हैं.

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.