योगी सरकार में ये कैसी स्वास्थ्य सुविधाएं ? एंबुलेंस नहीं मिली तो बेटा-मां को ठेले पर ले जाने को हुआ मजबूर, रास्ते में तोड़ा दम

शाहजहांपुर: उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में मानवता को शर्मसार करने वाली तस्वीर सामने आई है. जिसमें बीमार बूढ़ी मां को उसका बेटा हाथ ठेले पर लादकर पैदल ही 4 किलोमीटर दूर अस्पताल पहुंचा लेकिन तब तक उसकी बूढ़ी मां की मौत हो चुकी थी. परिजनों का आरोप है कि समय पर एंबुलेंस और ईलाज मिल जाता तो उसकी मां की मौत नहीं होती, लेकिन एंबुलेंस के नहीं पहुंचने से उसकी बीमार मां की जान चली गई।

मामला थाना जलालाबाद कस्बे का है, जहां के रहने वाले दिनेश ने बताया कि उसकी बूढ़ी मां बीना देवी के पेट में अचानक दर्द उठा जिसके चलते वह दर्द से बेहाल हो गईं. तब दिनेश ने बताया कि उसकी फोन में बैलेंस नहीं था, पड़ोसियों से मिन्नतें करते हुए कहा भी 108 एंबुलेंस बुलवाने के लिए, लेकिन किसी ने फोन नहीं लगाया। पैसे के अभाव और बूढ़ी मां की तकलीफ बढ़ती देखकर वह खुद ही हाथ ठेले पर मां को लिटाकर अस्पताल की ओर चल पड़ा. वह 4 किलोमीटर पैदल चलकर अस्पताल पहुंच तो गया, लेकिन बूढ़ी मां की बीच रास्ते में ही मौत हो गई।

बीच रास्ते में ही मां ने तोड़ा दम
मां को ठेले पर लादकर वह 4 किलोमीटर का लंबा सफर तय करके जलालाबाद सरकारी अस्पताल पहुंचा, लेकिन इस दौरान बीच रास्ते में ही उसकी मां ने दम तोड़ दिया. अस्पताल डॉक्टर अमित यादव ने उसकी मां को ठेले पर ही देखा परंतु उसकी मां की मौत रास्ते में ही हो चुकी थी।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.