राष्ट्रपति, CM योगी और राज्यपाल आनंदीबेन ने गोरखुपर को दी बड़ी सौगात, आयुष विश्वविद्यालय का किया शिलान्यास

उत्तर प्रदेश: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में आयुष विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछले डेढ़ साल से पूरी दुनिया कोरोना महामारी से त्रस्त है। इस दौरान दुनिया का कोई देश ऐसा नहीं होगा जिसने इस महामारी से लड़ने के लिए प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए भारत की चिकित्सा पद्धतियों का अनुसरण न किया हो।

सीएम योगी आदित्यनाथ बोले कि प्रधानमंत्री मोदी ने UNO के मंच से भारत की इस परंपरा को वैश्विक मंच पर ले जाने का कार्य किया है। इसकी वजह से भारत की चिकित्सा पद्धति तेज़ी के साथ आगे बढ़ी। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश का पहला आयुष विश्वविद्यालय भूमि पूजन और शिलान्यास के साथ शुरू होने जा रहा है। पूरी दुनिया विगत डेढ़ वर्ष से कोरोना महामारी से त्रस्त है। इस दौरान रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने हेतु सम्पूर्ण विश्व ने भारत की परम्परागत चिकित्सा पद्धतियों का अनुसरण किया है।

राष्ट्रपति, CM योगी और राज्यपाल आनंदीबेन ने गोरखुपर को दी बड़ी सौगात

आगे उन्होनें कहा कि भारत की परम्परागत चिकित्सा पद्धति को वैश्विक मंच पर आदरणीय प्रधानमंत्री मोदी ने जो नई पहचान दी, आज पूरी दुनिया उसका लोहा मानती है। 21 जून को ‘विश्व योग दिवस’ के रूप में मनाया जाना उसका एक प्रमाण है। योग की समस्त विशिष्ट विधाएं वो चाहे हठ योग हो, राज योग, लय योग या फिर मंत्र योग हो। जिन्हें आप व्यावहारिक या क्रिया योग भी कहते हैं, इनके जनक महायोगी गुरु गोरखनाथ ही माने जाते हैं।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.