PM मोदी ने जनसमर्थ पोर्टल का किया शुभारंभ, बोले- स्वच्छ भारत अभियान ने गरीब को सम्मान से जीने का दिया अवसर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने क्रेडिट लिंक्ड सरकारी योजनाओं के लिए राष्ट्रीय पोर्टल – जन समर्थ पोर्टल (Jan Samarth Portal) का शुभारंभ किया।

Share This News
Jan Samarth Portal

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने क्रेडिट लिंक्ड सरकारी योजनाओं के लिए राष्ट्रीय पोर्टल – जन समर्थ पोर्टल (Jan Samarth Portal) का शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होनें संबोधित करते हुए कहा कि आप सभी इस विरासत का हिस्सा हैं। देश के आम जन के जीवन को आसान बनाना हो, या देश की अर्थव्यवस्था को सशक्त करना हो, बीते 75 वर्षों में अनेक साथियों ने इसमें बहुत योगदान दिया है। बीते वर्षों में वित्त मंत्रालय और कॉरपोरेट मंत्रालय ने अपने कार्यों के द्वारा, सही समय पर सही निर्णयों के द्वारा अपनी एक legacy बनाई है, एक बेहतरीन सफर तय किया है। ये नए सिक्के देश के लोगों को निरंतर अमृतकाल के लक्ष्य याद दिलाएंगे और उन्हें राष्ट्र के विकास में योगदान के लिए प्रेरित करेंगे।

आजादी के अमृत महोत्सव के लिए समर्पित नए सिक्के भी जारी हुए

आज यहां रुपये की गौरवशाली यात्रा को भी दिखाया गया। इस सफर से परिचित कराने वाली डिजिटल प्रदर्शनी भी शुरू हुई और आजादी के अमृत महोत्सव के लिए समर्पित नए सिक्के भी जारी हुए। आजादी के लंबे संघर्ष में जिसने भी हिस्सा लिया, उसने इस आंदोलन में नए dimension को जोड़ा। आजादी का ये अमृत महोत्सव सिर्फ 75 वर्षों का उत्सव मात्र नहीं है, बल्कि आजादी के नायक, नायिकाओं ने आजाद भारत के लिए जो सपने देखे थे, उन सपनों को परिपूर्ण करना, उन सपनों में नया सामर्थ्य भरना, और नए संकल्पों को लेकर आगे बढ़ने का ये पल है।

स्वच्छ भारत अभियान ने गरीब को सम्मान से जीने का अवसर दिया

भारत ने भी बीते (Jan Samarth Portal) आठ वर्षों में अलग-अलग आयामों पर काम किया है। इस दौरान देश में जो जनभागीदारी बढ़ी, उन्होंने देश के विकास को गति दी है, देश के गरीब से गरीब नागरिक को सशक्त किया है। स्वच्छ भारत अभियान ने गरीब को सम्मान से जीने का अवसर दिया। पक्के घर, बिजली, गैस, पानी, मुफ्त इलाज जैसी सुविधाओं ने गरीब की गरिमा बढ़ाई, सुविधा बढ़ाई। कोरोना काल में मुफ्त राशन की योजना ने 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को भूख की आशंका से मुक्ति दिलाई।

आज 21वीं सदी का भारत People-Centric governance एप्रोच के साथ आगे बढ़ा

सबसे बड़ी बाद देश के लोगों में अभाव से बाहर निकलकर सपनें देखने और उन्हें साकार करने का नया हौंसला हमें देखने को मिला। देश की आधी आबादी, जो देश के विकास के विमर्श से, formal सिस्टम से वंचित थी। उसका inclusion हमने मिशन मोड़ में किया। Financial inclusion का इतना बड़ा काम, इतने कम समय में दुनिया में कहीं नहीं हुआ है। आज 21वीं सदी का भारत People-Centric governance एप्रोच के साथ आगे बढ़ा है। ये जनता ही है जिसने हमें अपनी सेवा के लिए यहां भेजा है। इसलिए ये हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है कि हम जनता तक स्वयं पहुंचे।

Read Also:- BJP से निष्कासित हुए नवीन जिंदल को मिली सिर काटने की धमकी, पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ की थी विवादित टिप्पणी

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.