तकनीकी में भारत का बड़ा कदम, स्वदेशी मोबाइल ओपरेटिंग सिस्टम ‘भरोस’ का परीक्षण

केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) और केंद्रीय संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी (Electronics & Information Technology) मंत्री अश्विनी वैष्णव (Ashwini Vaishnav) ने स्वदेशी मोबाइल ओपरेटिंग सिस्टम भरोस (indigenous mobile operating system bharos) का परीक्षण किया। परीक्षण के बाद वहां मौजूद सभी लोगों ने इस स्वदेशी तकनीक पर भरोसा जताया। आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि इस सफर में मुश्किलें आएंगी, खास कर विदेशी कंपनियां नहीं चाहेंगी कि यह सफल हो, मगर इसे सफल बनाने के लिए हमें सावधानी से अपना प्रयत्न करते रहना है। आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने इसे आत्मनिर्भर भारत की तरफ एक शानदार कदम बताया है।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि 8 साल पहले जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डिजिटल इंडिया की बात की तब विपक्ष मजाक उड़ा रहा था लेकिन आज देश के तकनीकि विशेषज्ञों ने एक बड़ा काम कर दिखाया है।

भरोस एक स्वदेशी ओपरेटिंग सिस्टम यानी ओएस है जो हाईटेक सिक्योरिटी और प्राइवेसी के काम आता है, इसमें जरूरतों के मुताबिक एप चुनने और इस्तेमाल करने को लेकर विदेशी ओपरेटिंग सिस्टम से ज्यादा स्वतंत्रता है, जिसे किसी भी आधुनिक मोबाइल सिस्टम में इंस्टॉल किया जा सकता है। इसमें नो डिफॉल्ट ऐप्स हैं यानी यूजर्स को ऐप का इस्तेमाल करने को मजबूर नहीं किया जा सकता। यह प्राइवेट एप स्टोर सर्विस के माध्यम से केवल सुरक्षा और गोपनीयता के मानदंड को पूरा करने वाले भरोसेमंद ऐप्स को ही इन्सटॉल होने देता है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *