उदयपुर में कन्हैया लाल की नृशंस हत्या पर राजस्थान की पूर्व CM वसुंधरा राजे का बयान आया सामने, जानें क्या कहा?

Vasundhara Rajeon Udaipur incident

Vasundhara Rajeon Udaipur incident: उदयपुर में कन्हैया लाल की नृशंस हत्या पर राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि ये मामूली घटना नहीं है, ये एक तरह से आतंकवाद है। इसकी जितनी भर्त्सना करेंगे वो कम ही रहेगा। सांप्रदायिक उन्माद के पीछे कौन लोग हैं? कौन से संगठन हैं? ऐसी चीजें राजस्थान में कभी नहीं हुई। जो 2 दोषी सामने दिख रहे हैं सिर्फ वही नहीं उसके पीछे जो लोग होंगे, जहां से इसकी शुरुआत हुई होगी, उन्हें भी कड़ी से कड़ी सजा दी जाए।

ये मामूली घटना नहीं है, ये एक तरह से आतंकवाद

राजस्‍थान के उदयपुर में टेलर कन्‍हैया लाल साहू (Udaipur Tailor Beheading) की गला रेतकर निर्मम हत्‍या करने का एक आरोपी मोहम्‍मद रियाज अतारी भीलवाड़ा जिले के आसीन्‍द का रहने वाला है। इस निर्मम हत्‍याकांड से उसने न केवल अपने परिवार बल्कि पूरा आसीन्‍द का सिर शर्म से झुका दिया है। रियाज के घर वालों का कहना है कि उसने हमारा और गांव का नाम खराब किया है। 10 भाई-बहनों में सबसे छोटा मोहम्‍मद रियाज लगभग 20 साल पहले आसीन्‍द छोड़कर उदयपुर में ही रहने लगा था। रियाज अपने पिता जब्‍बार लुहार के साल 2001 में निधन के बाद उदयपुर जा बसा था। रियाज के भाईयों अब्‍दुल अय्यूब, इकराम, सरफूद्दीन और सिकन्‍दर का परिवार आसीन्‍द कस्‍बे में रहता है।

कन्हैयालाल ने पुलिस को पत्र लिखकर जताई थी अपनी हत्या की आशंका

वहीं पुलिस का दावा है कि कन्हैयालाल (Udaipur Tailor Beheading) की शिकायत के बाद पुलिस ने दोनों पक्षों का समझौता करा दिया था। हालांकि, इसके बावजूद आरोपी कपड़े सिलवाने के बहाने कन्हैयालाल की दुकान में पहुंचे और वहां उनकी हत्या कर दी। उदयपुर में भूतमहल के पास कन्हैया लाल की सुप्रीम टेलर्स नाम से दुकान है। कन्हैया लाल गोर्वधन विलास इलाके का रहने वाले थे। पुलिस की ओर से कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई। ऐसे में अब पुलिस पर भी सवाल उठ रहे हैं। अगर पुलिस ने समय रहते कार्रवाई की होती, तो यह घटना न होती।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *