उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने खिलाडियों को किया सम्मानित, खिलाड़ी बोले- दिल्ली सरकार से मिली सहायता से खेलों में बेहतर प्रदर्शन करने में मिली मदद

नई दिल्ली: दिल्ली में खेल को बढ़ावा देने और खिलाड़ियों एवं उनके कोचों को बेहतर सुविधाएं देने के लिए दिल्ली सरकार प्रतिबद्ध है। इस दिशा में शुक्रवार को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने छत्रसाल स्टेडियम में आवासीय हॉस्टल की नीँव रखी। 20.92 करोड़ रूपये की लागत से बन रहे पांच मंजिला इस हॉस्टल में खिलाड़ियों व उनके कोचों के लिए 64 कमरे बनाए जाएंगे। हॉस्टल 2 मैट वाले रेसलिंग हॉल, मेडिकल रूम, फिजियोथेरेपी सेंटर, जिम, स्टीम बाथ के साथ-साथ अन्य अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होगा। हॉस्टल का निर्माण कार्य  लगभग 16 महीनों में पूरा हो जाएगा।

इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि, जब खिलाडी मेडल जीत कर लाने वाले खिलाडियों को सभी सम्मानित करते है, करोड़ों के इनाम देते है लेकिन जब खिलाड़ी मेडल लाने से पहले मैदान में ट्रेनिंग के दौरान पसीना बहाते है स्ट्रगल कर रहे होते है उस दौर में उनकी मदद दिल्ली सरकार करती है। उन्होंने साझा किया कि जिन खिलाडियों में आगे बढ़ने की सम्भावना होती है उन्हें दिल्ली सरकार ‘प्ले एंड प्रोग्रेस’ और ‘मिशन एक्सीलेंस’ कार्यक्रम के तहत बेहतर ट्रेनिंग और कोच और स्पोर्ट्स इक्विपमेंट्स के लिए आर्थिक मदद करती है ताकि पैसों की कमी की वजह से उनके सपने न रुके।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे स्कूलों में खेलने को पढ़ना नहीं माना जाता है जबकि खिलाड़ी का खेल ही उसकी असल पढ़ाई है। इसके लिए दिल्ली सरकार, दिल्ली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी व दिल्ली स्पोर्ट्स स्कूल खोलने की तैयारी में है। इस यूनिवर्सिटी का उद्देश्य खिलाड़ियों को वर्ल्ड-क्लास सुविधाएं देना है। इस यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने वाले खिलाडियों के खेल को ही उनकी पढ़ाई मानी जाएगी। रिपोर्ट- कंचन अरोड़ा

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.