Advertisement

COVID-19 In China: चीन में हुई दवाओं की किल्लत, भारत करेगा कोरोना से तड़प रहे ड्रैगन की मदद

Share
Advertisement

चीन में कोरोना अपने पैर भयंकर रूप से पसार चुका है । कोरोना में चीन की ये अबतक की सबसे घातक लहर है । हर दिन लाखों की संख्या में नए मरीज सामने आने से अस्पतालों में लोगों को बेड नहीं मिल रहे हैं । दवाओं की भी किल्लत हो गई है ।

Advertisement

दवाओं के लिए लोग तड़प रहे हैं । चीन में दवाएं शॉर्ट हो गई है । अपने पड़ोसी को मुसीबत में देखकर अब भारत एक बार फिर से सामने आया है ।

अब ऐसे में भारत ने चीन में दवाएं भेजने का फैसला लिया है । भारत के दवा निर्यात निकाय के अध्यक्ष ने गुरुवार 22 दिसंबर को कहा कि दुनिया के सबसे बड़े दवा निर्माताओं में से एक भारत ने कोरोना से जूझ रहे चीन की मदद करने का फैसला लिया है । भारत, चीन को बुखार की दवाएं देने के लिए तैयार है ।

इस बीच भारत ने भी चीन को बुखार की दवाएं भेजने की इजाजत दे दी है. फार्मास्युटिकल्स एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल ऑफ इंडिया (फार्मेक्सिल) के चेयरपर्सन साहिल मुंजाल ने बताया, “इबुप्रोफेन और पेरासिटामोल दवा बनाने वाली कंपनियों के पास चीन से ऑर्डर आ रहे हैं।”

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि चीन की मदद करने के लिए भारत तैयार है । विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा, “हम चीन में COVID की स्थिति पर नजर रख रहे हैं। चीन को दवा भेजने के सवाल पर उन्होंने कहा, “हमने दुनिया के फार्मेसी के रूप में अन्य देशों की हमेशा मदद की है ।”

वहीं चीनी सोशल मीडिया पोस्ट और अखबारों की रिपोर्ट से पता चलता है कि चीन के लोग अब उन दवाओं को खरीद रहे हैं, जिन्हें चीन में बेचने की इजाजत नहीं है। इसके लिए चीनी ऑनलाइन स्टोर्स का सहारा ले रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *