CM योगी ने टीम-9 के साथ की बैठक, बोले- 18+ आयु के लोगों को बूस्टर डोज दिए जाने में तेजी की अपेक्षा

सीएम योगी (CM Yogi) बोले प्रदेश में कोविड के एक्टिव केस में लगातार गिरावट देखी जा रही है। वर्तमान में कुल एक्टिव केस की संख्या 948 है। इनमें 892 मरीज होम आइसोलेशन में स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं।

Share This News
CM Yogi

लखनऊ: उच्चस्तरीय टीम-09 (Team Nine) को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि कोविड टीकाकरण अभियान की प्रगति संतोषप्रद है। 32 करोड़ 15 लाख से अधिक कोविड टीकाकरण (Covid) के साथ ही 18+ आयु की पूरी आबादी को टीके की कम से कम एक डोज लग चुकी है, जबकि 90% से अधिक वयस्क लोगों को दोनों खुराक मिल चुकी है। बच्चों के टीकाकरण को और तेज करने की आवश्यकता है। 12 से 14 आयु वर्ग के बच्चों में बड़ी संख्या अभी टीकाकवर नहीं ले सके हैं। इसे तेज करने की जरूरत है। 18+ आयु के लोगों को बूस्टर डोज दिए जाने में तेजी की अपेक्षा है। बूस्टर डोज की महत्ता और बूस्टर टीकाकरण केंद्रों के बारे में आमजन को जागरूक किया जाए।

90% से अधिक वयस्क लोगों को दोनों खुराक मिल चुकी

सीएम योगी (CM Yogi) बोले प्रदेश में कोविड के एक्टिव केस में लगातार गिरावट देखी जा रही है। वर्तमान में कुल एक्टिव केस की संख्या 948 है। इनमें 892 मरीज होम आइसोलेशन में स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। विगत 24 घंटों में 01 लाख 34 टेस्ट किए गए और 142 नए कोरोना मरीजों की पुष्टि हुई। इसी अवधि में 214 लोग उपचारित होकर कोरोना मुक्त भी हुए। सार्वजनिक स्थानों पर फेस मास्क लगाया जाने की व्यवस्था को प्रभावी ढंग से लागू की जाए।

ANM/GNM के बेहतर प्रशिक्षण के लिए अवस्थापना सुविधाओं के विकास की जरूरत

उन्होनें कहा कि युवाओं के व्यापक हित के दृष्टिगत राज्य सरकार ने पिछले तीन दशकों से बंद पड़े राज्य सरकार के एएनएम/जीएनएम प्रशिक्षण संस्थानों के पुनर्संचालन का निर्णय लिया है। एएनएम/जीएनएम के बेहतर प्रशिक्षण के लिए अवस्थापना सुविधाओं के विकास की जरूरत है। ऐसे में हर संस्थान में मानकों का कड़ाई से अनुपालन कराया जाए। यह सुनिश्चित करायें कि हर संस्थान में फैकल्टी पर्याप्त हो, स्तरीय हो।

बूस्टर डोज के बारे में आमजन को करें जागरूक

CM बोले इंसेफेलाइटिस सहित विभिन्न जल जनित बीमारियों, कोविड प्रबंधन सहित लोक स्वास्थ्य के क्षेत्र में हमें यूनिसेफ, डब्ल्यूएचओ, बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन और पाथ जैसी वैश्विक संस्थाओं से अच्छा सहयोग प्राप्त हुआ है। इन संस्थाओं के प्रतिनिधियों से सतत संवाद बनाये रखा जाए। संवाद-संपर्क के माध्यम से निकट भविष्य में प्रदेश वासियों के हित में और भी नई परियोजनाएं शुरू की जा सकेंगी।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.