भारतीय वायु सेना में कार्यरत रहे शहीद स्वर्गीय रमेश कुमार के परिजनों से मिले सीएम केजरीवाल, 1 करोड़ रुपए की सम्मान राशि का सौंपा चेक

नई दिल्ली:  मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज दिल्ली के रेस कोर्स क्लब में रह रहे शहीद स्वर्गीय रमेश कुमार के परिवार से मिलकर भावुक हो गए। स्वर्गीय राजेश कुमार भारतीय वायु सेना में तैनात थे और 03 जून 2019 को अरूणाचल प्रदेश में ऑपरेशनल ट्रेनिंग सॉर्टी के दौरान एक विमान दुर्घटना में शहीद हो गए थे। इस दौरान शोक संतप्त परिवार के सदस्य अपने बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पाकर अपने आंसू रोक नहीं सके।

शहीद स्वर्गीय रमेश कुमार के परिवार से मिलकर भावुक हुए सीएम केजरीवाल

सीएम केजरीवाल ने कहा कि स्वर्गीय राजेश कुमार भारतीय वायु सेना में कार्यरत थे और देश की सेवा करते हुए एक विमान दुर्घटना में शहीद हो गए थे। आज उनके परिवार से मिला और एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि का चेक सौंपा। स्वर्गीय राजेश कुमार के जान की कीमत तो हम नहीं लगा सकते हैं, लेकिन मैं उम्मीद करता हूं कि इससे उनके परिवार को थोड़ी मदद मिलेगी। हमने स्वर्गीय राजेश कुमार की एक बहन को पहले ही सिविल डिफेंस में शामिल कर लिया है, दूसरी बहन को भी उसमें नौकरी देंगे और भविष्य में भी उनके परिवार का ख्याल रखेंगे।

स्वर्गीय राजेश कुमार के पिता हैं सुरक्षा गार्ड

CM ने ट्वीट कर कहा, ‘‘स्वर्गीय राजेश कुमार जी भारतीय वायु सेना में कार्यरत थे। वह देश की सेवा करते हुए एक विमान दुर्घटना में शहीद हो गए थे। आज उनके परिवार से मिला और एक करोड़ रुपए की सहायता राशि का चेक सौंपा। उम्मीद है कि इससे परिवार को मदद मिलेगी। भविष्य में भी स्वर्गीय राजेश कुमार जी के परिवार का ख्याल रखेंगे।’’

इस दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि स्वर्गीय राजेश कुमार दो साल पहले अरूणांचल प्रदेश में तैनात थे और वहां ऑपरेशनल ट्रेनिंग सॉर्टी (एयर मेंटेनेंस) के दौरान उनका एयर क्राफ्ट दुर्घटनाग्रस्त होने से वह शहीद हो गए। जैसा कि फौज में तैनात दिल्ली के जो भी लोग शहीद होते हैं, उन लोगों को दिल्ली सरकार एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि देती है। आज मैं स्वर्गीय राजेश कुमार के माता-पिता और पत्नी समेत परिवार के सभी सदस्यों से मिला और परिवार को एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि का चेक सौंपा है।

भारतीय वायु सेना में कुक के पद पर तैनात थे स्वर्गीय राजेश कुमार

स्वर्गीय राजेश कुमार को 05 फरवरी 2015 को भारतीय वायु सेना में गैर-लड़ाकू (कर्मचारी) ‘कुक’ के पद पर नियुक्त किया गया था। नियुक्ति के बाद उन्हें प्रशिक्षण के लिए कर्नाटक के बेलगांव भेजा गया। उनकी पहली पोस्टिंग राजस्थान के उत्तरली में हुई थी। 29 वर्ष की कम आयु में 03 जून 2019 को वह असामयिक शहीद हो गए, उस समय वे असम के जोरहाट में तैनात थे और अरुणाचल प्रदेश में एलजी-40 मेनचुका के लिए एक ऑपरेशनल ट्रेनिंग सॉर्टी (एयर मेंटेनेंस) पर थे। वह जिस एयर क्राफ्ट में थे, वह अरुणाचल प्रदेश की घाटी में ऊंवाई वाले इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। रिपोर्ट- कंचन अरोड़ा

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.